Daily news update

फ़ोन से मिली फ़ुद्दी-2 – Hot Sex Story

Phone se mili fuddi-2

मैं अन्दर गया तो देखा कि फ्लैट सुसज्जित है।

मैं उसे देखने लगा तो उसने बताया कि आज उसकी सहेली का दफ़्तर है और वो दफ़्तर गयी है और आठ बजे तक आयेगी।

फिर वो चाय बनाने चली गयी।

मैं वहीं एक पत्रिका उठाकर पढ़ने लगा तो देखा कि वो तो अश्लील पत्रिका है।

मैं आराम से फोटो देखने लगा।

उसमें कई सेक्सी फोटो थीं।

मैं देख रहा था कि वो चाय लेकर आ गयी।

मैंने पत्रिका छुपाने की कोशिश की पर उसने कहा – कोई बात नहीं, आराम से देख लो।

मैंने उसे ऊपर से नीचे तक देखा। उसकी आँखों में वासना झलक रही थी।

वो मेरे बगल में सोफे पर आकर बैठ गयी।

मैंने भी मौका देखकर उसके हाथों पर हाथ रखा तो उसने कोई प्रतिरोध नहीं किया।

मैंने उसके हाथों को उठाकर चूम लिया। उसने उठ कर मेरे गालों पर एक पप्पी दी।

मैंने उसके सर को पकड़ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर फ्रेंच किस कर दिया।

वो भी जवाब में और जोर से मेरे होंठों को चूसने लगी। हम वहीं सोफे पर बैठे-बैठे जोर-जोर से होंठ चूस रहे थे।

मैं धीरे से अपना हाथ उसकी चूची पर ले गया।

वाह! क्या मुलायम चूची थी पर निप्पल काफ़ी कड़ा हो गया था।

मैंने उसके निप्पल को दबाया, वो सिसक गई।

मैं काफ़ी देर तक उसकी दोनों चूची को मसलता रहा। वो अब पूरी तरह गरम हो चुकी थी।

उसने मेरे पैंट की जिप खोल दी पर चड्डी के कारण मेरा लौड़ा बाहर नहीं निकला।

वो चड्डी के ऊपर से ही उसे सहलाने लगी।

वो पहले ही खड़ा हो गया था उसके सहलाने से और कड़क हो गया।

मैंने उसका कुर्ता उतार दिया, उसने भी कोई विरोध नहीं किया।

फिर मैंने उसके ब्रा के ऊपर से ही उसकी चूची को चूमा और जोर-जोर से चूसने लगा, वो सीत्कार करने लगी।

मैंने उसकी ब्रा खोलकर उसके कबूतर आजाद कर दिए, क्या गोल-गोल चूची थी उसकी।

मैं उनको जोर-जोर से चूसने लगा। इस बीच वो मेरा पैंट खोल चुकी थी।

मैंने अपने पैंट को अलग किया और उसने मेरी चड्डी भी नीचे कर दी।

अब मैं केवल शर्ट में था और नीचे से नंगा और वो ऊपर से नंगी।

मैंने अब उसकी सलवार भी खोल दी जिसके नीचे वो जालीदार पैंटी पहनी हुई थी, जिसमे उसकी फ़ुद्दी आधी दिख रही थी।

उसने झांटें साफ कर रखी थी।

क्या मस्त नज़ारा था।

उसने मेरा टीशर्ट उतार दिया।

मैंने पैंटी के ऊपर से ही उसके बूर को चूमा।

उसने नीचे बैठकर मेरा लौड़ा अपने मुँह में ले लिया।

मुझे मज़ा आने लगा। क्या मजे से चूस रही थी। मैं तो जैसे जन्नत में था।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैंने उसे सोफे पर लिटा दिया और उसकी पैंटी खोल दी, अब मैं उसके ऊपर आ गया और 69 की अवस्था में आ कर उसके बूर को चूसने लगा।

वो अब जोर-जोर से मेरा लौड़ा पूरा का पूरा मुँह में ले रही थी और अपनी गांड उठा-उठा कर अपनी फ़ुद्दी चूसवा रही थी।

करीब पंद्रह मिनट के बाद उसने मुझे जोर से पकड़ लिया, शायद वो झरने वाली थी।

वो झड़ गयी और मैंने उसके सारे पानी को पी कर उसकी बूर को साफ़ कर दिया।

वो शिथिल हो गयी। मेरा लौड़ा अभी भी खड़ा था।

मैंने उसके मुँह में डाल-डाल कर उसका मुख चोदन किया और मेरा भी झड़ गया जिसे उसने पीने से मना कर दिया।

मैंने पास ही रखी उसकी पैंटी से पोंछ दिया और दोनों वहीं पर लेट गए।

थोड़ी देर बाद होश आया तो हमारी चाय ठंडी हो गयी थी पर हम दोनों काफी गरम थे।

उसने उठते ही तौलिये से अपना बदन ढक लिया और बोली कि नंगी शरम आती है।

मैं उसकी पीठ सहलाने लगा और थोड़ी देर में उसने मुझे चूमना शुरू कर दिया।

मैं उसे लेकर बिस्तर पर चला गया और उसके तौलिये को हटा कर उसके पूरे शरीर को चूमने और चाटने लगा।

वो काफी गरम हो गयी और मेरे लंड को जोर-जोर से खींचने लगी और अपने पैरों को चौड़ा कर दिया।

मैं समझ गया कि अब ये चुदना चाहती है।

मैने अपना लौड़ा उसकी फ़ुद्दी पर रखा और उसकी फ़ुद्दी में डालने लगा।

फ़ुद्दी गीली होने के कारण मेरे आधा लंड आराम से अन्दर चला गया। फिर मैंने लंड कुछ बाहर निकाल कर पूरा लंड जोर से अन्दर कर दिया अब वो चीख़ पड़ी।

मैंने कहा – क्या हुआ? वो बोली – अपनी फुद्दी में उंगली तो करती थी पर लंड पहली बार ले रही हूँ। सुनकर मज़ा आ गया।
दिल्ली में पहली लड़की मिली एक गलत फ़ोन लगाने पर, वो भी कुंवारी।

थोड़ी देर बाद वो गांड उठा-उठा कर चुदवाने लगी। मैंने भी जोर-जोर से उसे चोदा।

करीब 20-25 मिनट तक मैं उसे चोदता रहा इस बीच वो दो बार झड़ गयी। अब उसने निकालने के लिए कहा क्यूंकि उसे अब दर्द हो रहा था।

मैंने जल्दी जल्दी 30-35 झटके मारकर अपने वीर्य उसके पेट पर निकाल दिया क्यूंकि उसने अन्दर डालने से मना कर दिया था।

काफी देर तक हम दोनों ऐसे ही पड़े रहे।

मैंने इसके बाद कई लड़कियों के साथ सेक्स किया।

आपको कहानी कैसी लगी मेल कीजियेगा।

0Shares

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *