भाई से चुदवाने का चस्का लगा

Bhai se chudwane kachaska laga

मेरा नाम मोनिका ह। म हिमांचल की रहने वाली हु। मेरी उम्र 19 साल ह । ये घटना करीब 2 साल पहले की ह जब मैंने 12 वी के एग्जाम दिए थे ये घटना मेरी और मेरे भाई की ह। मेरे घर में मैं, पापा, ममा, निकिता दीदी (20)और भाई(22) हैं। दीदी पापा की लाड़ली हैं और वो पापा के साथ ही रहती ह। जब पापा घर आते ह तभी निकिता दीदी आती है। चुत चुदाई की सेक्स कहानी

दीदी साडी और खुले गले के ब्लाऊज़ पहनती है जिसमे उनका भूरा पेट गहरी नाभि और आधी चूचियाँ साफ दीखती हैं। उनको पापा और ममा मना नही करते बल्कि खुस होते हैं। मेरे पापा डेल्ही में जॉब करते ह और भाई पंजाब में।

मेरे भाई का नाम रोहन ह। रोहन की हाइट 5फ़ीट 9इंच और बॉडी बिल्डर जैसी बॉडी हैं।

मेरी हाइट 5 फ़ीट 3इंच ह। रंग गोरा ह।

मेरी चूचियाँ का साइज़ 32 कमर 28 और कूल्हे36 ह। मेरे स्कूल में लड़के मेरे कुल्हो क दीवाने ह। म लड़को की तरह छोटे बाल रखती हु। मुझे जीन्स ओर शॉर्ट टॉप पहनना पसन्द है। मेरी हाइट कम होने के कारण मेरे कूल्हे ज्यादा बड़े दीखते ह। मेरी चुचियां गोल और ब्राउन कलर के निपल हैं। चेहरा गोल है।

मेरा भाई कंपनी में जॉब करता ह। उनको खाना बनाने में दिक्कत होती थी तो ममा ने मुझसे कहा के तुम चली जाओ भाई क साथ। वैसे भी म घर पर ही रहती थी पूरा दिन खाली तो म भी चाहती थी के म उनके साथ रहूँ। क्यू के मुझे वहा आजादी मिल जाती और मुझे भी वहा घूमने फिरने का मोका मिल जाता और वैसे भी मेरे भाई के साथ मुझे रहना, उनके साथ सोना, बाते करना मुझे अच्छा लगता है।

घर में भी मेरा और भाई का एक ही कमरा है। म भाई क साथ हर बात शेयर कर लेती हु यहा तक के भाई मुझे गिफ्ट में ब्रा और पेंटी भी दे देते ह। म भाई को ही अपना बॉयफ्रेंड मानती हु लेकिन भाई को ये पता नही ह क उनकी छोटी बहन ही उनकी हमबिस्तर होने को तयार ह तो… मैंने हा क्र दी।

और भाई क साथ जाने को तयार हो गयी। भाई भी खुस हो गए क्यू क उनको भी खाना बनाने वाली जो मिल रही थी।
दिन में ममा बहार चली गयी मैं और भाई घर पर अकेले रह गए। तब भाई ने कहा के मोनिका तुम अपने कपड़े पैक कर लो और मेरे कुल्हो पर हल्का चांटा लगा दिया..

भाई ऐसा करते रहते थे।

फाइनली हम नेक्स्ट डे सुबह घर से चल दिए और शाम को 8 वजे पहुंच गए। हम थक गए थे तो मैंने और भाई ने सावर लिया और खाना खाया जो हमने घर से पैक किया था। और सोने लगे।

भाई के रूम में एक ही बेड था जिसपर हम दोनों लेट गए। म दिवार की तरफ मुह करके सो गयी जिस से मेरे कूल्हे भाई की तरफ हो गए। भाई ने अपना लण्ड मेरे कुल्हो से सटा दिया और मेरे पेट पर हाथ रख क्र मुझसे चिपक कर सो गए। मुझे थोड़ी देर बाद मेरे कुल्हो क बिच में हलचल महसूस हुई।

मैंने सोचा क भाई नींद में ह रहने दो जो हो रहा ह उसे होने दू क्यू क मुझे भी मजा आ रहा था। थोड़ी देर बाद भाई आगे पीछे होने लगे। तो मैंने अपने पैरो को थोडा खोल दिया जिस से भाई का लण्ड मुझे मेरी चूत पर महसूस होने लगा क्यू क मैंने लवर के निचे पेंटी नही पहनी थी।

भाई अब थोडा सा तेज आगे पीछे होने लगे।

5 मिनट बाद भाई ने मुझे आवाज़ दी :- मोनिका।

मै नही बोली

भाई ने दोबारा आवाज दी तब म बोली:- हा भाई

भाई:- जाग रही हो

मैं:- हा भाई

भाई:-मेरी तरफ मुह क्र क सो जाओ।

मुझे मालूम था क भाई चोदना कहते ह मुझे।

मैंने भाई की तरफ मुह कर लिया और अपनी आँखे बन्द कर के सोने लगी।

भाई:-मोनिका यार तेरा कोई बॉयफ्रेंड ह क्या।

मै:-नही भईया।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

आपके पास कोई लड़का हो तो बताना और म हस दी।

भाई भी हसने लगे।

मैंने भाई से पूछा क आपकी कोई गर्लफ्रेंड ह क्या।

भाई:- नही। जॉब से फुर्सत ही नही मिलती जो लड़की पटाऊँ।

भाई:- अब मुझे गर्लफ्रेंड की जरूरत भी नही ह।

मै :-क्यू?

भाई:- तुम जो आ गयी हो। आज से तुम हो मेरी गर्लफ्रेंड।

इतना कहते ही भाई ने मेरी दोनों चुचियो क बिच में मुह रख दिया और अपना लण्ड मेरी चूत से सटा दिया।

म भी भाई से यही चाहती थी। क्यू क भाई मेरे बचपन से ही कर्स रहे ह। मैंने अपनी टांगे थोड़ी सी खोल क़र भाई के

ल्हो पर हाथ रख क्र अपनी तरफ खिंच लिया। तभी भाई पीछे हट गए। म घबरा गयी क अब क्या हो गया।

भाई:- मोनिका मुझे फुल मजा करना है।

और अपनी लोवर और टीशर्ट उतार दी भाई ने अंडरवियर नही पहना था। भाई का लण्ड करीब 6 या 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा था । मुझे लगा के म इसे नही ले पाऊँगी तभी भाई मेरे भी कपड़े उतरने लगे। मेरी टीशर्ट उतारते ही चुचिया उनके सामने लहराने लगी। मुझे श्रम महसूस हो रही थी। तभी भाई ने मेरी चुचियो को हाथ में ले क्र दबाने लगे।

भाई ने चूची को मुह में भर लिया।

मेरी सिसकिया छुटने लगी आह सीईईईईईईईईई …. मुझे इतना मजा आने लगा था के म बता नही सकती। सच पूछो तो मेरी चूत से पानी निकलने लगा था। तभी भाई ने मेरी लोअर निकाल दी। मेरी क्लीन चूत भाई क सामने थी। भाई ने चूत पर हाथ रखा और 1 ऊँगली अंदर दाल दी।मुझे बहूत मजा आ रहा था। हम दोनों लोग नंगे ही एक दूसरे को गले लगाने लगे. वोअपना लंड मेरे मुँह में डालने लगा. मैं उसको मना कर रही थी कि नहीं मैं ये नहीं करूँगी तोवो बोला कि इसमें मजा आता है.तो मैं भी उसके लंड को चूसने लगी.

कुछ ही देर में मुझे लंड चूसना अच्छा लगने लगा और मैं उसके लंड को बेशर्मों की तरह बहुत देर तक चूसती रही. वो 69 में हो कर मेरी चूत को सहलाने लगा और मेरी चूत में अपनी जीभ डाल कर मेरी चूत को चाटने लगा.मैं मदहोश हो कर आहें भरने लगी. अब हम दोनों लोग एकदम चुदाई के खेल में में लग गए थे. वो मेरी चूत को अपनी जीभ से चाट रहा था और मैं आहें भर रही थी.तभी वो उठा और अपनी मेज की दराज से एक कंडोम निकाल लाया. उसने मेरे सामने अपने लंड पर कंडोम लगाया.

मैं बिस्तर पर चुपचाप लेटी उसके खड़े लंड को देख रही थी. वो अपने लंड पर कंडोम लगाने के बाद मेरे ऊपर आ गया. मेरे ऊपर आकर वो अपने जिस्म से मेरे जिस्म को रगड़ने लगा. मेरी चूत में अपना लंड रगड़ने लगा. मैं भी एकदम चुदासी हो गई थी. मैंने अपनी चूत खोल दी और बोलने लगी कि मुझे चोदो.मेरा भाई भी अब चुदाई करने के लिए बेचैन हो गया था. वो अपने लंड पर कंडोम लगाया था और उसकाखड़ा लंड कंडोम की वजह से एकदम चमक रहा था.

वो अपना लंड मेरी चूत पर रगड़ने लगा. वो मेरी टांगों को फैला कर जांघों के बीच में आ गया और अपना लंड मेरी चूत में घुसाने लगा. मैं भी कसमसा रही थी कि ये जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दे और मुझे चोद दे. मैं भी चुदवाने के लिए एकदम गरम और चुदासी हो गई थी.भाई अपना लंड मेरी चूत में डालरहा था तो उसका लंड मेरी चूत से फिसल जा रहा था.

मैंने उसकालंड पकड़ कर अपनी चूत के छेद परलगा दिया और उसको इशारे में बोली कि अब मेरी चूत में लंड डालो.उसने एक झटका देते हुए मेरी चूत में लंड डाला तो उसका लंड मेरी चूत में चला गया। मुझे बहूत तेज दर्द हुआ और मेरी चूत से खून निकलने लगा क्यू क मै वर्जिन थी। तभी भाई ने एअक और तेज झटका मरा जिस से लण्ड मेरी चूत में भर गया। और वो मुझे चोदने लगा. मुझे दर्द हो रहा था।

मैंने भाई को रुकने के लिए बोला तो भाई ने मेरे होठों को चूसना सुरु कर दिया। मेरा दर्द कम हुआ तो मैंने अपने कूल्हे हिला क्र इसरा किया तब भाई ने लण्ड आगे पीछे करना सुरु क्र दिया। मुझे अब हल्का हल्का सा दर्द हो रहा था। लेकिन कुछ देर बाद मैं भी अपनी गांड को नीचे से उछाल कर उसका लंड अपनी चूत मेंलेने लगी थी. मस्त चुदाई होने लगी थी और मैं भाई का साथ दे रही थी.वो मेरी चूत को बहुत अच्छे से चोद रहा था.

हम दोनों लोग बहुतदेर तक चुदाई कर रहे थे. हम दोनों लोग की चुदाई करते करते एक दूसरे को गले लगा रहे थे. वो मुझे कुछ देर चोदने के बाद अलग हो गया अब उसने मुझे घोड़ी बना कर चोदना शुरू कर दिया. हमदोनों लोग इतने अच्छे से चुदाईकर रहे थे कि जैसे लग रहा था कि हम दोनों लोग बहुत दिन से एक दूसरे के साथ चुदाई करते रहे हैं.हम दोनों लोग चुदाई के बीच बीचमें एक दूसरे को किस भी कर रहेथे.

मुझे घोड़ी बना कर चोदने केबाद उसने मुझे अपने लंड के ऊपरबैठ लिया और मुझे चोदने लगा.आधा घंटे तक हम दोनों लोग चुदाई करने के बाद झड़ने को हो गए. कुछ ही देर बाद हम दोनों लोग चुदाई करते हुए झड़ गए.हम दोनों चुदाई करने के बाद एकदूसरे को किस किया. उसने मुझे ‘आई लव यू..’ बोला और मैं भी उसको ‘आई लव यू टू..’ बोली और हम दोनों लोग नंगे एक दूसरे कोगले लगाकर सो गए.एक घंटे बाद हम दोनों ने उठ करफिर से चुदाई चालू कर दी. उस रात भाई के लंडसे चुद कर बहुत मजा लिया.

नेक्स्ट स्टोरी में आपको बताउंगी के बुआ के लड़के ने कैसे पटाकर मुझे चोदा। आपको कैसी लगी मेरी ये घटना मुझे मेल कर के जरूर बताना। ताकि मैं आपको अपनी लाइफ की घटना बता सकु।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!

Leave a Reply

Your email address will not be published.