बीबी ने दोस्त से गांड मरवाई

153442 110

Biwi ne dost se Gaand Marwaai

दोस्तों आपने मेरी पिछली कहानी “दोस्त ने बीबी को जमकर चोदा” में पढ़ा की कैसे मुझसे और उसके पुराने यार से चुदाई बंद हो गई थी और वो नए लंड की तलाश में थी जिसे उस्मान के रूप में मिला.
उस्मान मेरी बीबी को बहुत ही अच्छे से चोदता है, मेरी बीबी उस्मान की चुदाई से बहुत खुश है, वो अब मनु भाई को भूल चुकी है,उस्मान मेरी बीबी को प्रतिदिन बिना नागा किये चोदता है यहाँ तक की उसक पीरियड में भी उसकी गांड मार बगैर वो नहीं रहता वो मेरी बीबी की गांड भी मारता है, मेरी चुद्दकड़ बीबी को दो लोगो से एक साथ चुदने के इच्छा भी थी जिसे उस्मान ने उसके दोस्त कल्लू मिया के साथ मेरी बीबी की थ्रीसम चुदाई की, दोस्तों मैं मेरी बीबी की दो लोगो (कल्लू मिया और उस्मान) से चुदने की कहानी भी मेरी इस कहानी के बाद प्रेषित कर दूंगा, दोस्तों मैंने पिछली कहानी में आपसे वादा किया था की मैं अपनी बीबी की गांड मराने की दास्तान आपके साथ साझा करूँगा तो लीजिये मैं लेकर आ गया मेरी बीबी की गांड मराने की नयी कहानी.
ये कहानी मैं वही से शुरू करूँगा जब मालिनी उस्मान से पहली बार चुदी.

उस्मान ने मालिनी को रात भर कम से कम से कम ८ बार चोदा, उस दिन उसने ना तो उसकी गांड मारी और ना ही उसको अपना लंड चुसाया, करीब ५ बजे दोनों ने आखिरी राउंड चुदाई की और फिर उस्मान ने मालिनी की चुत में लंड दिया और दोनों एक दुसरे से चिपक कर सो गये.
करीब सुबह के १०.३० बजे मालिनी सोकर उठी, उस दिन बेटी का स्कूल मिस हो गया, सुबह उठते ही मालिनी फ्रेश हुयी और नाश्ता बनाने लगी, करीब आधा घंटे के बाद उस्मान भी उठ गया, मालिनी उस समय सर चड्डी पहने हुए थी, उस्मान उठा उसने पीछे से जाकर मालिनी को पकड़ लिया और उसने उसकी गर्दन और गालो पर किस करते हुए गुड मोर्निंग कहा और अपना लंड उसकी गांड में गड़ाने लगा , मालिनी ने भी उसको किस किया और कहा – जानू जाकर फ्रेश हो जाओ बाद में तुम जो करना है करो मैं सब के लिए तैयार हूँ.

तब उस्मान बाथरूम में फ्रेश होने चला गया, इधर मालिनी ने नाश्ता तैयार कर लिया छोटी बेटी नास्ता कर के खेलने चली गई, उस्मान बाथरूम से नंगा ही आया, मालिनी उस समय किचन में कुछ काम कर रही थी, उस्मान ने आते ही उसने मालिनी को अपनी बाहों भरकर उसे किचन के फर्श पर लिटा दिया और और उसकी गांड को उठाकर उसकी चड्डी को निकाल फेंका दोनों फिर से मादरजात अवस्था में नंगे हो गए तब शोएब ने मालिनी की दोनों टांगो को अपने कंधे पर रखा और अपने हाथो से मालिनी की चुत को फैलाते हुए अपने लंड को उसकी चुत में एक झटके में ही घुसा दिया मालिनी ने जोर की सिसकारी ली ईयाआआआआ उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ और उसने भी अपनी गांड को थोडा उठाकर उस्मान का साथ दिया, उस्मान फिर तेजी तेजी से मेरी बीबी की चुत मारने लगा उस्मान का हर धक्का मालिनी की बच्चेदानी को चोट करने लगा करीब आधा घंटा चुदाई चलती रही इस बिच मालिनी करीब २ बार झड़ चुकी थी कुछ देर बाद उस्मान का भी माल निकलने लता उसने मालिनी की चुत को अपने वीर्य से लबालब भर दिया.

दोनों ने चुदाई से दिन की शुरुवात की फिर उस्मान जल्दी से तैयार हो गया, उसने मालिनी बताया की आज ऑफिस जाकर छुट्टी लेकर आ जाता हूँ फिर १० दिन तक तुम्हारी चुत और गांड का कबाड़ा बनाउंगा, दोनों ने लिप लॉक किया और उस्मान ने कुछ देर मालिनी की चुचियो को मसला फिर वो घर से निकल गया है, मैंने भी लैपटॉप बंद किया और अपने काम पर चला गया.

करीब रात ९.०० बजे मैंने अपने लाइव रिकॉर्डिंग चालू की….
मालिनी और उस्मान दोनों उस समय खाना खा रहे थे दोनों बच्चे सो गये थे, दोनों उस समय नंगे थे मालिनी उस्मान की जांघ के ऊपर बैठी थी, उस्मान एक हाथ से मालिनी की चुचियो को सहला रहा था, दोनों एक दुसरे को खाना खिला रहे थे, मालिनी ने एक हाथ से उस्मान के लंड को पकड़ा हुआ था, मालिनी की चुत से वीर्य धीरे धीरे बह रहा था, इसका मतलब उस्मान ने एक बार मालिनी को चोद लिया था, एक दिन में ही मालिनी की चुत का छेद काफी बड़ा होगया था, आखिर हो भी क्यों ना उस्मान का लंड तो इतना बड़ा था.

करीब १५ मिनट बाद दोनों खाना खा कर उठ गये, उस्मान बाथरूम में चला गया और मालिनी ने एक चादर बच्चो पर डाली और फिर उसने पास पड़ी वसलिन की डिब्बी से कुछ वसलिन निकाल कर अपने चुचियो और हाथ पैरो पर लगाकर बेड पर जा कर बैठ गयी, चुदाई के बारे में सोच सोच कर उसकी चुत ने पानी छोड़ना चालू कर दिया था और उसकी चिपचिपी चुत साफ नजर आ रही थी, उतनी देर में उस्मान बाथरूम से आ गया, मालिनी ने मुस्करा कर अपनी बाहे फैला दी, उस्मान तुरंत मालिनी के ऊपर कूद गया उसने मालिनी को अपनी बाहों में जकड़ लिया और उसे जोर जोर से उसके सारे बदन पर चुम्मा लेने लगा लगभग १५ मिनट की चूमाचाटी की बाद मालिनी पूरी तरह गर्म हो गयी थी, वो जोर जोर से आआआअह उफ्फ्फफ्फ्फ़ यीएसैईईईइ करने लगी उसकी चुत का बहता हुआ चुतरस अब उसकी गांड तक पहुच गया था उस्मान अब उसकी दोनों चुचियो को जोर जोर से मिन्जने लगा वो उसकी कड़े निप्पलो को अपनी उंगलियों में लेकर उमेठ रहा था कुछ देर बाद उसने अपना सर मालिनी की छाती में घुसा दिया मालिनी ने अपना एक निप्पल उस्मान के मुह में दे दिया जिसे उस्मान जोर जोर से चूसते हुए उसका दूद पिने लगा, मालिनी उसके सर को पानी छातियो में दबा कर बच्चे जैसे उसको दूध पिलाने लगी, मालिनी पूरी तरह गर्म हो गयी थी और उसे अपनी चुत या गांड में अपना लंड तुरंत चाहिए था.

पिछली रात तो उस्मान ने सिर्फ मालिनी की चुत ही मारी थी, वो इससे आगे नही बढ़ा था उस्मान ने करीब १० मिनट बारी बारी से उसकी दोनों चुचियो को निचोड़ कर पूरा खली कर दिया.
उस्मान ने अब मालिनी को पलटा दिया और उसकी पीठ और कुल्हो को चुम रहा था उस्मान के सामने मालिनी की बड़ी गांड थी, मालिनी की गांड मेरे पुराने शहर की सबसे बड़ी और सबसे सेक्सी गांड थी ऐसी गांड की बीबी मिलना किस्मत की बात थी, पर मालिनी की ये बदकिस्मती थी की उसकी इतनी शानदार चुत और बेहतरीन गांड के लिए मेरा लंड नही बना था, मैंने कभी भी मालिनी की गांड नहीं मारी थी मुझे गांड मारना, लंड चुसाना और चुत चाटना अच्छा नही लगता था मैं तो बस सीधा सादा सेक्स करता था वो भी महीने में २-३ बार (वैसे भी मैं ढंग से बीबी की चुत ही नही मार पाता गांड तो दूर की बात थी) जबकि उसका पुराना आशिक़ उसको चोदता था तो उसकी गांड भी जरुर मारता था, मालिनी को भी गांड मराने में बहुत मजा आता था सेक्स का असली मजा चुत और गांड दोनों में है, वैसे भी असली मर्द औरत की गांड जरुर मारता है.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

उस्मान मालिनी की गद्देदार गांड को देखकर वो ललचाने लगा उसकी लार टपकने लगी, उसने मालिनी की गांड को अपने हाथो से पकड़ कर ऊपर किया और वो जोर जोर से दोनों कुल्हो को मसलने लगा, अचानक उसने गांड को अपने दोनों से फ़ैलाने लगा कुछ ही देर में गांड का भूरा सा, प्यारा सा छेद उसकी आँखों के सामने था, उसने उसको चूम लिया और वो मालिनी से बोला – जान क्या तुम्हे पता है, मैं ये बात कसम खा कर कह सकता हूँ की तुम्हारी गांड जैसे गांड आज तक मैंने कभी नहीं देखि.
मालिनी – ये तो आपका बड़प्पन है ये बात तो आप जैसे कद्रदान ही जाने वरना मेरा पति, वो भढवा तो कभी मेरी गांड के तरफ देखता भी नही, जानू क्या तुम मेरी गांड मारना चाहते हो.
उस्मान – हां मेरी जान मैं आज तुम्हारी गांड मारकर धन्य होना चाहता हूँ, अगर तुम कहो तो.
मालिनी – जान ये तुम कैसी बात करते हो मेरा सारा बदन तुम्हारा है, तुम मेरी चुत मारो या गांड मुझे कोई समस्या नही है, बल्कि तुम्हारा हथियार मेरे किसी भी छेद में जाये तो मुझे ख़ुशी ही होगी.

उस्मान – तो ठीक है जान आज मैं तुम्हारी गांड का उद्घाटन करूँगा.
ये कह कर उस्मान ने दिया फिर उसने मालिनी को कुतिया बनने के लिए कहा, मालिनी पीछे गांड करके कुतिया बन गयी मालिनी ने अपने गांड को पूरी तरह खोल दि, उस्मान ने मालिनी की गांड के छेद में मुँह लगाकर उसको चाटना चालू कर दिया साथ ही वह अपनी तीन ऊँगलीयो से मालिनी की चुत चोदने लगा मालिनी ऊँगली द्वारा चुत चोदन और गांड चटाई ज्यादा देर तक बर्दाश्त नहीं कर पायी और करीब ७-८ मिनट में फिर से सिसकारी लेने लगी अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह! एससससस! ओ याआआअ करते हुए मालिनी फिर से झड़ने लगी, मालिनी की निकलते हुए चुत रस को उस्मान ने उसकी चुत में अपनी जीभ लगाकर चपड़ चपड़ कर के चाट लिया फिर वो मालिनी के कूल्हे को अपने दांतों से काटने लगा वो मालिनी की नंगी पीठ पर अपनी जबान से चाटने लगा साथ ही वो अपना लंड मालिनी के गांड के छेद पर भी रगड़ने लगा.

उस्मान ने फिर मालिनी को घोड़ी बनने को खा मालिनी तुरंत घोड़ी बन गयी, मालिनी को अब समझ आ गया था की अब उसकी गांड मराई चालू होने वाली है. उस्मान मालिनी की गांड को फैला कर उसमे अपनी जीभ घुसाकर फिर से चाटने लगा मालिनी के लिए उत्तेजित करने वाला क्षण था, उसने उसकी गांड को थूक से सरोबर कर दिया और बोला – बोला बस जान अब प्यार के दर्द पाने के लिए तैयार हो जाओ मालिनी ने सर हिला कर हामी भर दी.
उस्मान ने मालिनी की गांड को अपने दोनों हाथो से फैलाते हुए अपने लंड को छेद पर टिका कर एक जोरदार शॉट लगाया, मालिनी की गांड में उस्मान का सुपाड़ा जो करीब २.५ इंच लम्बा और ३ चौड़ा था वो अंदर चला गया मालिनी सिसकार पड़ी और उसकी आँख से आंसू निकल गए उस्मान ने मालिनी के गाल पर एक किस किया और और फिर से थोड़ा पीछे होकर फिर एक बार जोरदार शॉट मारा इस बार लंड आधे से ज्यादा अंदर चला गया मालिनी के मुँह से हलकी चीख निकल गई.

उस्मान ने दोनों हाथो से मालिनी के बालो को पकड़ कर उसका सर उठाकर तीसरा धक्का लगाया, इस धक्के में उस्मान का पूरा का पूरा लंड मालिनी की गांड के अन्दर चला गया एक बार लंड अन्दर गया की उस्मान तेज तेज धक्के मारने लगा, मालिनी की चीखे अब सिसकारिओ में बदल गयी मालिनी के मुँह से आअह्हह्ह्ह्हह! उफ्फफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ आई इइइइइइइइइ ऐसी आवाजे निकल रही थी वो भी अब उस्मान का भरपूर साथ देते हुए मजे ले रही थी उस्मान अब जोर जोर से और गहरे गहरे धक्के लगाने लगा वो मालिनी की गांड पर जोर जोर से चांटे मार मार कर उसने मालिनी की गंद को पूरी तरह से लाल कर दिया था.
करीब घंटे भर तक उस्मान मालिनी की गांड मारता रहा फिर उसके लंड ने माल निकलने का संकेत दे दिया वो थोड़ी देर के बाद जोर जोर से आवाजे करते हुए मालिनी की गांड में अपने वीर्य की पिचकारी मारने लगा, मालिनी भी अब तक २ बार झड़ चुकी थी, और वो थक कर चूर हो गयी, उस्मान ने अपने वीर्य से मालिनी की गांड को छेद तक पूरा लबालब भर दिया.

उस्मान ने मालिनी को अपने से पूरी तरह चिपका कर रखा उसका लंड अभी भी मालिनी की गांड में ही था और मालिनी की गांड में लंड फंसा होने से थोडा थोडा वीर्य बहार रिस रहा था, दोनों ऐसी अवस्था में १५ मिनट पड़े रहे, फिर उस्मान ने धीरे से मालिनी की गांड में से अपना लंड निकाला, लंड अब भी विकराल था पर वो अब थोड़ा ढीला हो गया था, मालिनी थक कर सो चुकी थी, उसकी गांड से उस्मान वीर्य धीरे धीरे बहार निकल कर बिस्तर पर जमा हो रहा था, चुत की तरह अब मालिनी की गांड का छेद भी ३ इंच तक बड़ा हो गया था.
उसके बाद दोनों ने करीब १ घंटा रिलेक्स किया और फिर अगला दौर शुरू हो गया उस रात उस्मान ने मालिनी को फिर रात भर चोदा और ३ बार उसकी गांड भी मारी.
तो दोस्तों आपको मेरी बीबी के द्वारा उस्मान से गांड मराने की ये सच्ची कहानी कैसे लगी मुझे लिखकर जरूर बताया मेरा मेल आईडी है – [email protected]
आपका जगत.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *