Daily news update

पूरे का पूरा लण्ड चूत में 2

Pure ka pura lund chut me-2

मालिश करते समय राधिका ने एक खेल और खेला और मुझे कहा – पंकज जरा इस ब्रा के हुक को खोल कर अच्छी तरह से मालिश कर दे…

आख़िर मैं क्यूँ मना करने लगा, मैंने ठीक वैसे ही किया!! राधिका के ब्रा का हुक खोल कर मालिश करने लगा… मालिश करते हुए धीरे धीरे मैंने अपना हाथ राधिका के बूब्स पर लगाया और मसलने लगा!!!…

थोड़ी देर के बाद मैंने अपना हाथ हटा लिया, इस पर राधिका ने कहा – क्या हुआ…?? मालिश करो, मुझे बहुत मजा आ रहा है…

इस पर मैंने कहा – आप को मजा आ रहा है पर मेरी हालत ख़राब हो रही है…

तो राधिका ने पूछा – क्यूँ, क्या हुआ…??

मैंने कुछ नहीं कहा लेकिन तभी राधिका ने मेरा हाथ पकड़ कर बिस्तर पर खींच लिया और मेरी छाती पर बैठ गई और कहने लगी – मुझे मालूम है, तुम्हें क्या हुआ है?

यह कहकर उसने अपनी ब्रा खोल कर उतार के फेंक दी…

अब मेरे सामने उसके बूब्स बिलकुल नंगे थे!!! !!

अब राधिका ने कहा – पंकज, इनको पकड़ कर इनका दूध निकाल कर पी जा…

मैंने भी ठीक वैसे ही किया, राधिका के बूब्स को जब मैंने छुआ तो मुझे यकीन ही नहीं हुआ कि किसी के इतने नाजुक चुचक कैसे हो सकते हैं…??

अब मैं राधिका के बूब्स को जोर से मसलने लगा, तभी राधिका ने कहा – जरा आराम से…

थोड़ी देर दबाने के बाद, राधिका मेरे ऊपर से उठी और अपना पेटीकोट का नाडा खोल दिया!! !!!

जैसे ही राधिका का पेटीकोट नीचे गिरा, मैंने देखा की उसने नीचे कुछ भी नहीं पहना था… मैं उसे देखता ही रहा, तभी राधिका ने कहा – क्या हुआ…??

मैंने कहा – मैंने आज से पहले कभी किसी औरत को ऐसे नहीं देखा!! !!! तो राधिका ने कहा – मतलब, आज से पहले तुमने कभी सेक्स नहीं किया…??

मैंने कहा – नहीं, मगर आप चिंता ना करो मैंने ब्लू-फिल्म बहुत देखी हैं और मुठ भी बहुत मारा है!!!

अब राधिका ने कहा – हाय रे मेरी किस्मत!! मतलब मुझे ही तुम्हें सब कुछ सिखाना है…

मैंने कहा – मुझे कुछ कुछ पता हैं। जो नहीं है, वो आप बता देना… इस पर राधिका ने कहा – मगर मेरी एक शर्त है!!

मैंने कहा – मुझे आपकी सारी शर्त मंजूर है तो राधिका ने कहा – मेरी पहली शर्त है कि तुम मुझे आप नहीं बल्कि राधिका कहोगे… !!

मैंने कहा – ठीक है और दूसरी शर्त यह है कि मैं जब भी मैं कहूँ, तुम मुझे चोदोगे…

मैंने कहा – ठीक है…

तो राधिका ने कहा – चलो, अब पहले अपने सारे कपडे खोल दो और पलंग पर लेट जाओ…

मैंने बिल्कुल वैसा ही किया अपने सारे कपडे खोल के पलंग पर लेट गया!! !!!

राधिका मेरे पास आकर बैठ गई और मेरे लिंग को हाथ में लेकर हिलाने लगी और मुँह में लेकर लोलीपोप की तरह चूसने लगी… !!

मुझे बहुत मजा आ रहा था, तभी एकदम मेरे शरीर में करंट सा दौड़ गया और मेरे लिंग से कुछ निकला जो सीधा राधिका के मुँह में गिर गया…

इस पर राधिका ने कहा – कोई बात नहीं, पहली बार ऐसे ही होता है।

थोड़ी देर बाद राधिका मेरे ऊपर आकर बैठ गई और मुझे किस करने लगी… कम से कम 8-9 मिनट बाद मैंने राधिका से कहा – राधिका, कुछ नया करें!!

अब राधिका अपने मुख में मेरा लिंग लेकर चूसने लगी, जिसके कारण मेरा लिंग दुबारा तन के खड़ा हो गया!! !!!

अब राधिका ने कहा – पंकज, तुम भी मेरी चूत को चाटो!! मैं राधिका की चूत को चाटने लगा…

जेसे ही मैंने चूत पर अपना मुख लगाया, राधिका के सिसकारियाँ भरनी शुरू कर दी। कुछ देर बाद राधिका की चूत से कुछ पानी निकला…

मैं उसे पी गया… ऐसा रस मैंने कभी नहीं पीया था!! मुझे बहुत अच्छा लगा!!! !!

हम काफी देर तक ऐसे ही एक दूसरे को चाटते रहे, फिर मैंने राधिका से कहा – राधिका, अब मुझे लगता है कि मेरा पानी निकलने वाला है… तभी राधिका ने मुख से मेरे लिंग को बाहर निकाला और मुझसे कहा – पंकज, अब तुम अपने लण्ड को मेरी चूत में डाल दो… लेकिन आराम से!! क्योकि तुम्हारा टोपा बड़ा है… !!

मैंने कहा – ठीक है, जब दर्द हो तो कह देना। मैं रुक जाऊंगा…

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैं खड़ा हुआ और राधिका की चूत पर अपने लिंग को लगाया तो गीलेपन के कारण फिसल गया।

इस पर राधिका ने गुस्से में कहा – अब मुझे ही बताना होगा की तेरे लण्ड को चूत में कैसे डालना है!! !!! और उसने मेरे लिंग को पकड के अपनी चूत पर लगाया और कहा – अब जोर से धक्का मार, भोसड़ी के…

मैंने वैसे ही किया, एक जोर का धक्का लगाया और इसके साथ ही मेरा टोपा राधिका की चूत में घुस गया और राधिका जोर से चिल्ला उठी और बोली – हरामी, कुत्ते… धीरे डालने के लिये कहा था ना।

मैंने कहा – सोरी, अनाड़ी हूँ तो उसने कहा – चल ठीक है, कोई बात नहीं… मैं समझ सकती हूँ, तू साला चमन चूतिया है… लेकिन किसी और के साथ ऐसे मत करना, वरना वो कहीं मर ना जाए…

मैंने कहा – तुम्हारे होते हुए मुझे क्या डर और वैसे भी तुम हो ना, मुझे सिखाने के लिए!!

इस पर राधिका ने मुझसे कहा – कभी मैं नहीं हुई तो…??

अब मैंने कहा – तो फिर तुम मुझे पूरी तरह से तैयार कर देना!! राधिका ने कहा – ठीक है, लेकिन अभी तो जो काम कहा है वो तो कर… मुझे चोदो और मेरी प्यास बुझा दो!!

मैंने कहा – हाँ हाँ, ठीक है… और एक जोर का झटका लगाया!!

मेरा पूरे का पूरा लण्ड राधिका की चूत में घुस गया और मैंने जोर ज़ोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए!!! !!

करीबन १/२ घंटे के बाद मैंने राधिका से कहा – मेरा अब पानी निकलने वाला है!! तो राधिका ने कहा – मुझे तुम्हारा पानी पीना है, तुम अपना पानी मेरे मुख में निकाल दो…

मैंने वैसे ही किया, अपना लण्ड राधिका के मुख में डाल दिया और सारा पानी उसके मुख में निकाल दिया और थक कर राधिका के पास ही लेट गया!!

राधिका भी अब तक थक चुकी थी…

थोड़ी देर बाद राधिका ने कहा – पंकज, आज के जैसा मजा मुझे पहले कभी नहीं मिला!! !!!

राधिका ने मुझे एक जोरदार किस किया और सो गई… रात को राधिका ने मुझे जगाया और फिर से एक बार चोदने के लिए कहा!!

उस रात मैंने राधिका को कम से कम 4 बार चोदा!! … …

सुबह मेरी आँख 9 बजे खुली, जब राधिका मेरे पास चाय लेकर आई!!

उसने मुझे चाय पीकर फिर से रात का कार्यक्रम चालू करने के लिये कहा… मैं पहले ही थका हुआ था, मगर उसकी शर्त के कारण मना भी नहीं कर सकता था।

राधिका ने मुझसे अनिल के आने तक खूब चुदवाया और मुझे नये तरीके भी बताये… …

मैं अपनी अगली कहानी में आपको बताऊंगा कि कैसे राधिका ने मुझसे अपनी एक सहेली को चुदवाया!! !!!

तब तक के लिए विदा…

अगर आपको हमारी साइट पसंद आई तो अपने मित्रो के साथ भी साझा करें, और पढ़ते रहे प्रीमियम कहानियाँ सिर्फ HotSexStory.xyz में।

0Shares

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *