पगफेरे में मिली पूजा की चूत

Pagfere me mili pooja ki chut

प्यारे मित्रों और एम एस एस के सभी पाठकों, आप सभी को खड़े लण्ड का नमस्कार!!

मेरा नाम राज है और मैं जयपुर में रहता हूँ। एम एस एस पर यह मेरी पहली कहानी है।

बात जब की है जब मेरे बडे भाई की शादी हुई थी…

मैं पहली बार भैया के साथ पगफेरे करवाने के लिये उनके ससुराल गया था!! वहाँ पहुँचते ही सभी ने हमारा स्वागत किया और तभी मेरी नजर भैया की छोटी साली पूजा पर पड़ी, वह बहुत खूबसूरत थी!!!

फिगर तो बस ऐसा था की देखते ही मेरा साथी सैल्यूट मारने लगा और मैं तुरंत उसे पटाने के बारे में सोचने लगा!!…

मैं बस किसी ना किसी बहाने से उसके पीछे लगा रहा। वो भी मुझे अपने आगे-पीछे देखकर, मेरे मन की बात को समझने लगी और मुझे देखकर मुसकुराने लगी।

मेरा मन उससे बात करने को कर रहा था पर भीड़ के कारण मौका नहीं मिल रहा था।

रात का खाना खाने के बाद सभी सोने की तैयारी करने लगे तभी मैंने देखा पूजा बाहर लोन में बैठी थी, वो भी अकेली। मैं भी उसके पास पहुँच गया और पूछा – क्या बात है, पूजा जी? अकेले कैसे बैठे हो??

तो उसने कहा – किसी का इन्तजार कर रही हूँ।

मैंने पूछा – किसका?

तो वो हँसने लगी और कहा – आपका…

यह सुनकर मेरे दिल का पंछी हवा में उडने लगा!! !!!

मैंने अपने आप को संभालते हुए कहा – क्यों मजाक कर रहे हो, पूजा जी।

तो उसने कहा – मजाक नहीं कर रही। मैंने जब से आपको देखा है, मैं आपके बारे में ही सोच रही थी…

मैंने भी कह दिया – पूजा जी, मैं भी आप पर मर मिटा हूँ!! तभी उसका भाई वहाँ आ गया और हम सभी बातें करने लगे और रात को दस बजे के करीब सारे सो गये… मैं भी पूजा के बारे में सोचते-सोचते सो गया।

सुबह हम सभी जाने की तैयारी करने लगे तो पूजा कुछ उदास सी लग रही थी। हम जाने के लिये कार मैं बैठे तो पूजा ने मेरी जेब में कुछ डाला!!

हम सभी घर पहुँच गये तो मैंने देखा तो उसमें पूजा के नम्बर थे!! !!!

मैं पूरा दिन पूजा के बारे में सोचता रहा और मैंने रात को पूजा को फोन किया तो उसने कहा – राज, तुम्हारी बहुत याद आ रही है!!

मैंने भी कहा – पूजा, मेरा भी मन नहीं लग रहा!!

कुछ दिन हम फोन पर ऐसे ही बात करते रहे, फिर मैं पूजा से फोन पर सेक्स की बात करने लगा…

वो शरमा जाती पर जवाब भी दे देती और इधर मैं सोचने लगा, अगर मौका मिले तो काम बन सकता है!!!

भगवान ने मेरी जल्दी ही सुनी… एक महीने बाद पूजा अपने भाई के साथ अपनी बहन से मिलने आई, उसने इस बारे में मुझे फोन पर भी नहीं बताया था।

उसको देखते ही मैं उसको चोदने के बारे में प्लानिंग करने लगा!! !!!

दिन भर वो भाभी के साथ चिपकी रही, रात को खाना खाने के बाद सभी सोने की तैयारी करने लगे व खाना खाने के बाद सभी सोने चले गये।

मेरा कमरा ऊपर है और कोई दूसरा कमरा ऊपर नहीं है। मैं भी सोने चला गया, रात को करीब 12 बजे मैं नीचे टायलेट करने गया। वापस आ रहा था तो देखा की पूजा मेरी कजन के पास सो रही थी।

उसकी टाँगें सलवार ऊपर उठी होने की वजह से दिख रही थीं।

यह देखकर मेरा खड़ा हो गया और मैंने धीरे से जाकर पूजा का अंगुठा पकड़कर हिलाया, तो वो जाग गई…

मैंने उसको ऊपर आने का इशारा किया और ऊपर चला गया और उसका इन्तजार करने लगा!!

थोडी देर बाद पूजा ऊपर आई तो मैं पूजा को बाहों में लेकर उसके होंठों पर होंठ रखकर किस करने लगा!!!

पूजा ने मुझे धक्का देकर हटाया और कहा – कोई आ जायेगा।

मैंने अब उसके चुचों को सहलाते हुए कहा – जान, काई नहीं आयेगा… और मैंने दरवाजा बन्द कर लिया और खिड़की खोल ली, जिससे मैं ऊपर आने वाले को देख सकूँ।

पूजा की साँसें तेज चलने लगी थीं!! मैं उसके पास गया और उसके चुचों को दबाने लगा!!!

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

यह सब मैंने एम एस एस की कहानियों से सिखा था!!

मैं उसे पूरे जोश में चूमने लगा, पूजा भी अब गरम होने लगी थी और मेरा साथ दे रही थी…

मैं अब उसके कुर्ते को खींचने लगा तो वो कहने लगी – अरे, फट जायेगा… और खुद ही उसे उतार दिया!!

मैंने उसकी ब्रा को उतार दिया!! !!!

अब मैं एक चुचे को मुँह में लेकर चुसने लगा और दूसरे को दबाने लगा!! पूजा के मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगीं…

फिर मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खींच दिया, जिससे सलवार नीचे गिर गई!!… और उसकी गुलाबी पैंटी ने मुझको हिला दिया!!

उसने शरमा के अपना चेहरा हाथों से ढक लिया!! !!!

मैंने उसके हाथों को हटाते हुये कहा – मुझसे क्या शरमाना। जैसे मैंने अपना काम किया है, वैसे तुम भी कर लो।
इतना सुनते ही उसने मेरी बनीयान उतार दी व पायजामा नीचे खींच दिया…

अब मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसे ऊपर से नीचे तक चूमने लगा और उसकी पैंटी को उतार दिया उसकी चूत एकदम गुलाबी थी!! !!!

मैंने बिना देर किए उसकी फांकों को चोडा कर उसके चूत को जीभ से चाटने लगा तो पूजा मेरे बालों को पकड़कर चूत पर दबाने लगी और मेरे लण्ड को ऊपर से ही सहलाने लगी। मैंने अपना अण्डर वियर उतार दिया!! !!!

पूजा मेरे लण्ड को आगे-पीछे करने लगी। मैंने उसे चूसने को कहा तो उसने मना कर दिया पर टोपी पर किस कर दी। अब मुझसे भी कंट्रोल नहीं हो रहा था। मैंने अपने लण्ड पर थोड़ा थूक लगाया और उसकी चूत के छेद पर रखकर धक्का लगाया!!

लण्ड थोड़ा सा अन्दर चला गया, पूजा ने हल्की सिसकारी लेकर आँखें बन्द कर ली और होठों को दाँतों तले दबा लिया। मैंने जोर लगाकर एक धक्का और मारा आधा लण्ड अन्दर चला गया!!!

पूजा के मुँह से चीख निकली पर मैंने हाथों को उसके मुँह पर रख दिया और एक धक्का देकर पूरा लण्ड चूत में डाल दिया!!…

पूजा की आँखों में आँसू आ गये। मैं उसी स्थिति में रूक गया और उसे सहलाने लगा और होंठों को चूसने लगा। मुझें भी अपने लण्ड पर जलन महसुस होने लगी।

थोड़ी देर बाद पूजा ने मेरी कमर पर हाथ फिराना शुरु किया, मैं भी लण्ड को आगे पीछे करने लगा… पूजा भी गाण्ड ऊपर उठाने लगी!!

मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं किसी ऐसी जगह पर हूँ, जिसका वर्णन शब्दों मैं तो नहीं किया जा सकता।

मैं जोर-जोर से झटके लगा रहा था। पूजा बोल रही थी – मेरे राज, मैं तुम्हारी हूँ… बहुत मजा आ रहा है!! थोड़ी देर बाद उसका बदन अकड़ने लगा और वो मुझे आई लव यु राज बोलते – बोलते झड़ने लगी!!!

कुछ देर बाद, मैं भी उसकी चूत में ही झड़ गया।

वो मुझे चुमते हुए बोली – आई लव यु राज और अपने को बाथरुम में जाकर साफ किया उसके आने के बाद मैं भी बाथरुम में गया। वापस आया तो पूजा अपने कपडें पहन चुकी थी। उसने आते ही मुझे किस किया और नीचे जा कर सो गई।

मैंने चादर पर जो खून था उसे साफ़ किया और सो गया… सुबह सब उठे तो पूजा थोडा लंगड़ा कर चल रही थी!! मैंने उसे मेडीकल से दर्द की पिल्स लाकर दी और दोपहर को वो अपने घर चली गई।

अगर आपको हमारी साइट पसंद आई तो अपने मित्रो के साथ भी साझा करें, और पढ़ते रहे प्रीमियम कहानियाँ सिर्फ HotSexStory.xyz में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *