Daily news update

चूची पर काटी चींटी 2

Chuchi par kati chinti-2

अब मुझे अपने ऊपर गुस्सा आने लगा कि वासना के भँवर में फँसकर यह मैंने क्या किया!!

मैंने एक पल के लिए भी यह नहीं सोचा की इसका अंजाम क्या हो सकता है!!

मुझे पूरा यकीन था की वो मेरी मम्मी से जाकर सब कुछ बता देगी।

मेरे खड़े लण्ड ने बहुत बड़ा लोचा कर दिया था…

रात के 2 बज चुके थे और वो बस सिसक सिसक कर रोए जा रही थी। न जाने कितनी ही बार मैं उसे अब तक सॉरी बोल चूका था पर वो चुपने का नाम ही नहीं ले रही थी।

अगली सुबह मैं उठा और स्कुल के लिये तैयार हुआ।

मम्मी उसे उठा रही थीं तो उसने कहा – मेरा सिर दर्द कर रहा है, मुझे सोने दीजिए। मैंने भी हामी भर दी और स्कुल चला गया।

मैं क्लास में बैठ कर यही बात सोच रहा था कि आज तो मैं गया… मुझे बहुत ही चिंता हो रही थी। स्कूल खतम होने पर मैं अपने दोस्त के घर चला गया ओर देर से घर आया।

जब मैं वहाँ से आया तो घर पर कोई नहीं था, सीमा के अलावा सब बाजार गये हुये थे।

उसने खाना निकाला और मुझे दे दिया, गुस्से में। मैंने खाना नहीं खाया और कंप्यूटर पर बैठ कर गेम खेलने लगा तो वो मुझपर गुस्सा हो गई और बोली – खाना क्यूँ नहीं खा रहे हो?

मैंने कहा – मुझे भूख नहीं है, मैं खा के आया हूँ। वो मेरे बगल में बैठ कर मुझे बोली – मैंने मम्मी को कुछ नहीं बताया है, अब तो खा लो।

अब मुझे वो समझा रही थी कि ये गलत काम क्यूँ करते हो? तुमको क्या हो गया था, कल रात को?? बताओ… इसके पहले तो ऐसा कभी नहीं किया था!!…

खाना खाने के बाद हम दोनों बात करने लगे और मैंने उसे बताया कि पता नहीं कल रात को क्या हो गया था, मुझे!! मेरा वो बहुत बुरी तरह खड़ा हो गया था और शांत ही नहीं हो रहा था और मुझे नींद भी नहीं आ पा रही थी।

अब वो पूछती है – कौन खड़ा हो गया था? तो मैंने कहा कि – मेरा ल ल लण्ड, इसलिये मुझसे हो गया।

वो पूछने लगी – तो अभी कैसा है? तो मैंने कहा – अभी तो सो रहा है!! फिर कुछ रुककर मैंने पूछा – क्या त त तुम दे दे देखो देखोगी??

उसने पहले तो साफ मना कर दिया, फिर थोड़ी देर बाद मैंने हिम्मत करके उसका हाथ पकड़ के पैंट के अन्दर डाल दिया तो मेरा लण्ड फटाक से बाहर निकाल आया!!!

अब उसने मेरे लण्ड को घूरते हुए पूछा – ये क्या है? साँप की तरह!!

मैंने बताया – यही तो है… फिर मैंने कहा – तुमने इसे फिर से उठा दिया ना…

वो बोली – मैंने क्या किया??

मैंने उसका हाथ लेकर लण्ड पर लगाया तो वो बोली – ये तो बड़ा होता जा रहा है।

मैंने उससे कहा – तुम भी अपना दिखाओ ना, मैंने आज तक नहीं देखा है!!

वो मना करने लगी और चली गई। फिर जब वो 5 मिनट बाद आयी तो वासना फिर सिर पर अपना नंगा नाच खेलने लगी और मैंने उसका हाथ पकड़ा और उसे किस करने लगा!!!…

वो मुझे धक्का दे रही थी, पर मैं उसे नहीं छोड़ रहा था…

मैंने उससे जिद्द की कि वो भी दिखाये पर वो मान नहीं रही थी और बोली – अभी मेरा पीरियड चल रहा है।

मैंने पूछा – ये पीरियड क्या होता है? तो वो बोली – जब तुम्हारी शादी होगी तो अपनी बीबी से पूछ लेना।

उसके बाद वो और मैं हमेशा सेक्स के बारे में बात करने लगे और किस करने लगे!!! !!

दिन बितते गये और एक दिन शाम के 6 बजे से लाइट नहीं आयी, तो सब छत पर सोने चले गये, पर वो नहीं गई।

रात के 12 बजे जब लाइट आई तो सब सो रहे थे। मैं उठ कर नीचे चला आया…

वो सो रही थी…

मैं दरवाजा बन्द करके उसके बगल में जा कर सो गया। थोड़ी देर बाद मैंने उसे जब किस किया तो वो अचानक उठ कर बोली – यहाँ कैसे आ गये? और फिर हम शुरु हो गये।

मैंने कहा – प्लीज़, तुम अपनी चूत दिखाओ ना!! मैं सिर्फ देखना चाहता हूँ कि कैसी होती है!!!

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

बहुत देर मनाने के बाद, वो राजी हो गई। मैंने उसकी सलवार को खोला तो देखा कि उसकी चूत पर बाल थे…

अब मैं उसे छूना चाहता था पर वो मना कर रही थी। मैंने उसे पकड़ कर किस कर लिया…

फिर जब मैंने उसकी चूत को छुआ, तो वो उछल पड़ी और दूर भाग गई।

हम रात भर अकेले थे। मैंने उसे अब अपना लण्ड निकाल के दिखाया और मैं पूरा नंगा हो गया और उसको भी कर दिया।

फिर मैंने अपना लण्ड उसको चूसने को कहा तो उसने मना कर दिया। मैंने कहा – ठीक है, तुम नहीं चुसोगी तो मुझे तो चूसने दो!!

और मैं उसकी चूत को चूसने लगा!!!…

जब मैं उसकी चूत चूस रहा था, तो वो बार-बार कमर को ऊपर नीचे कर रही थी। फिर जब उससे नहीं रहा गया तो वो मेरा भी चूसने लगी।

वो बोली – मुझे उल्टी आ रही है… और वो बाहर चली गई, जब आयी तो मैंने उसको गोद में बैठने को कहा।

कुछ देर की चूमाचाटी के बाद उसकी चूत में जब मैं लण्ड डाल रहा था तो अन्दर नहीं जा रहा था। मैं जाकर सरसों का तेल लेकर आया और अपने लण्ड पर लगाया और फिर उसकी चूत पर…

फिर मैं अपने लण्ड का टोपा उसकी चूत पर ऊपर नीचे रगड़ने लगा तो वो सिसकारियाँ लेने लगी!! !!!

मुझे लगा की कहीं यह आवाज ना निकाल दे, इसलिए मैंने उसके होंठ पर अपने होंठ रख दिए और उसे किस करने लगा… अब वो मेरा साथ दे रही थी!! तभी मैंने अचानक अपने लण्ड का टोपा अंदर उसकी चूत में डाल दिया!!!

उसकी आँखों से आँसू निकल रहे थे, तो मैंने उसे गोद में ले कर किस करते हुए फिर से लण्ड अन्दर डाला।

इस बार पूरा अन्दर चला गया… उसने मेरी पीठ में अपने नाखुन घुसा दिया और जोर से पकड़ी रही।

2-3 मिनट बाद मैंने उसे फिर चोदना शुरु किया…

मैं उसे बहुत जोर-जोर से चोद रहा था और साथ में उसकी चूची को भी बेतहाशा दबा रहा था!! कुछ देर ताबड़तोड़ चोदने के बाद, जब मैने लण्ड को निकाला तो वो खून से पूरा लाल हो गया था और उसकी चूत भी खून से लाल थी!!! !!

मेरा अब निकलने वाला था तो मैंने बाहर निकाल कर उसकी चूत के ऊपर रख दिया और सारा पानी उसकी चूत पर गिरा दिया…

फिर मैं उसके ऊपर वैसे ही थोड़ी देर लेटा रहा…

रात के 2 बज गये थे। अब हम एक दूसरे के ऊपर नंगे ही सो गये।

तो दोस्तो कैसी लगी ये मेरी कहानी?? ये मेरी सच्ची कहानी थी!!!

उसके बाद मैंने उसको बहुत बार उसको चोदा…

अगर आपको हमारी साइट पसंद आई तो अपने मित्रो के साथ भी साझा करें, और पढ़ते रहे प्रीमियम कहानियाँ सिर्फ HotSexStory.xyz में।

0Shares

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *