Daily news update

चूची पर काटी चींटी 1

Chuchi par kati chinti-1

मेरा नाम मन है और मैं पंजाब का रहने वाला हूँ।

मैं एम एस एस पर प्रकाशित होने वाली लगभग सभी कहानियों को पिछ्ले कुछ समय से पढ़ रहा हूँ… कभी-कभी तो बाथरुम में ही बैठकर पढ़ते पढ़ते मुठ मार लेता हूँ!!

मैं आज आप सब के सामने अपनी कहानी सुनाने जा रहा हूँ, जो बिल्कुल सच्ची है। मैं आशा करता हूँ कि आप सब को मेरा कहानी पसंद आएगी।

तो दोस्तो, बात आज से 5 साल पहले की है…

मेरे घर में वो गेस्ट बन कर आयी थी। मेरे ही उम्र की थी और उसका नाम सीमा था!! उस समय उसकी उम्र 19 साल की थी और मैं भी उस समय 19 साल का ही था।

सीमा के बारे में बताता हूँ… वो औरों की तरह ज़्यादा सुन्दर तो नहीं थी पर थोड़ी सी साँवली थी। उसकी लंबाई थी, 5 फुट और 34-26-36 का शरीर था!! हंसते रहना उसकी आदत थी और हाँ दूसरे के काम में टाँग लगना भी उसकी एक आदत थी।

अब अपने बारे में बताता हूँ। मेरे लण्ड की लम्बाई 8 इंच की है और कद 6 फीट का।

तो उन दिनों, रोज मैं सुबह स्कूल चला जाता था और 2 बजे आता था।

एक दिन सब परिवार के लोग एकत्रित हो गये तो हम दोनों एक कमरे में सोने चले गये।

वहाँ पर कोई और नहीं आया सोने के लिये, तो हम दोनों आपस में खेलने लगे और अपना टाइम पास कर रहे थे। जैसे एक दूसरे को चींटी काटना…

इसी दौरान पता नहीं कैसे उसकी चूची पर एक बार अचानक मेरा हाथ चला गया और मैंने चींटी काट ली!!

उसके बाद वो एकदम से शान्त हो गई तो मुझे बहुत बुरा लगा। मैंने फिर से उसे काटा, तब भी वो कुछ नहीं बोली और ना ही वापस उसने मुझे चींटी काटी और सोने का नाटक करने लगी।

मुझे बहुत बुरा लगा तो मैंने मजाक में उसे बाहों में भर लिया, फिर भी उसने कुछ नहीं बोला। अब मुझे गुस्सा आ गया और मैं सोचने लगा कि क्या हो गया? कहीं बुरा तो नहीं मान गई?? आख़िर क्यो नहीं बोल रही है?? ??

थोड़ी देर के बाद उसने मुझे चींटी काटी तो इस बार मैंने कुछ नहीं बोला…

जब उसने 4-5 बार काटी तो मैं उठा और पूछा – क्या है? क्या हुआ??

तो उसने बोला – तुमने मुझे मेरी चूची पर चींटी क्यूँ काटी, मुझे गुस्सा आ गया था।

अब मैंने हंसते हुए उसके पूरे शरीर में चिंटीयों की बरसात कर दी।

इसी दौरान एक बार तो मेरी हाथ उसकी चूत तक पहुँच गया था!! !!!

ऐसी ही खेल खेल में रात के 12 बज चुके थे।

अब मैं अपने मोबाइल पर एम एस एस की कहानी पढ रहा था और मुझे नींद नहीं आ रही थी तो मैंने उसे उठाना चाहा पर वो नहीं उठी, तो मैं उसे चींटी काटने लगा। पर वो नहीं उठी।

एम एस एस पर उतेजक कहानियाँ पढ़ने से मेरा लण्ड खड़ा हुआ था और मैं उसे अपने हाथों से दबा रहा था पर दोस्तो आप तो जानते हो एम एस एस की कहानियाँ लण्ड को इस कदर उतेज़ित कर देती हैं कि वो शांत हो ही नहीं रहा था!!!

अब मेरे मन में सेक्स के विचार बढ़ने लगे थे और मैं कंट्रोल नहीं कर पा रहा था!!

तभी मेरे दिमग में ख्याल आया कि क्यूँ ना सीमा का हाथ अपने लण्ड के ऊपर रख दूँ, शायद शांत हो जाये…

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैंने ऐसा ही किया पर ये तो शांत होने का नाम ही नहीं ले रहा था तो अब मैं उसकी चूत के पास उंगली से बेहद धीरे धीरे सहलाने लगा तो महसूस किया कि उसकी चूत एकदम गीली हो चुकी थी!! !!!

अफ़सोस, तभी वो उठ गई और गुस्से से बोली – ये क्या कर रहे हो? हटो यहाँ से… अभी तुम्हारी मम्मी को बताती हूँ…

ना जाने मुझे क्या हुआ, मैंने उसके हाथ को पकड़ा और उसके ऊपर चढ गया और कपड़ों के ऊपर से ही खड़े लण्ड को उसकी चूत से सटा कर चोदने लगा और उसे यहाँ वहाँ किस करने लगा!!!…

वो लाख कोशिश करती रही, पर मैं नहीं हटा।

इसी बीच उसकी एक हाथ की चूड़ी टूट गई और तभी मेरा मूठ पेंट में ही निकल गया और मैं शांत हो गया!!

अब जब मैं होश में आया तो देखा कि वो सिसक सिसक कर रो रही है…

अब मुझे अपने ऊपर गुस्सा आने लगा कि वासना के भँवर में फँसकर यह मैंने क्या किया!!

मैंने एक पल के लिए भी यह नहीं सोचा की इसका अंजाम क्या हो सकता है!!

मुझे पूरा यकीन था की वो मेरी मम्मी से जाकर सब कुछ बता देगी।

मेरे खड़े लण्ड ने बहुत बड़ा लोचा कर दिया था…

रात के 2 बज चुके थे और वो बस सिसक सिसक कर रोए जा रही थी। न जाने कितनी ही बार मैं उसे अब तक सॉरी बोल चूका था पर वो चुपने का नाम ही नहीं ले रही थी।

सुबह क्या होगा यह सोच कर ही मेरा दिल बैठा जा रहा था!!…

मित्रो, मुझे यकीन है आप यह जानने के लिए उतावले होंगे की सुबह क्या हुआ??

बस कीजिये थोड़ा सा इंतज़ार और पढ़ते रहिये एम स स…

अब तक की कहानी आप को कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं…

अगर आपको हमारी साइट पसंद आई तो अपने मित्रो के साथ भी साझा करें, और पढ़ते रहे प्रीमियम कहानियाँ सिर्फ HotSexStory.xyz में।

0Shares

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *