मम्मी और अंकल की चुदाई कहानी

Mummy aur uncle ki chudai kahani sex-story

मम्मी फड़फड़ाने लगी – आआह….मर गयी रे फाड़ दी तुमने.. अंकल उनको कचर के चोदने लगे, अंकल – आआह कितनी मस्त चुत है तेरी – आआह, मम्मी – आआह पेल दो रुको मत.. दोनो चुदाई में मस्त थे, अंकल ने पोजीसन बदल ली वो मम्मी के पीछे लेट गए।

मेरा नाम अनुपम है मेरी उम्र 19 साल है मैं बिहार का रहने वाला हु ये मेरी पहली स्टोरी है, जिसका टॉपिक है मम्मी और अंकल की चुदाई कहानी, तो इन्जॉय करे।

मेरे घर में मैं और मेरी मम्मी सुनैना रहती है मेरी मम्मी की उम्र 39 साल है वो लंबी चौड़ी महिला है बड़े बड़े बूब्स मस्त गोरा रग बड़ी गाड़ है मेरे पिता जी नही है।

मैं एक प्रिवेट कंपनी में जॉब करता हु एक रात मैं काम करे घर आया मेरे पास दरवाजे की दूसरी चाबी थी मैने दरवाजा खोला और अन्दर गया अन्दर देखा तो मम्मी tv पर ब्लू फ़िल्म देख रही थी, और कभी कभी Hot Sex Ki Kahani भी पढ़ती थी। नग्गी बैठी अपनी चुत में उंगली कर रही थी वो वासना में इतनी लीन थी वो कुछ देख ही नही रही थी

मैं ये सब देख कर घर के बाहर आ गया कुछ देर बाद दरवाजे की बेल बजायी मम्मी आयी मैने देखा वो पसीने से लतपत थी मैं अपने कमरे में चला गया और रात बाहर ये ख़याल करता रहा की क्या करू।

अगले दिन,

जब मैं अपने काम पे गया तो मेरे साथ के एक कर्मचारी ने मुझे इंटरनेट की साइट बताई जिसमे काई आदमी लड़कियों की तलाश करते है मैने रात को ही मम्मी के नाम की प्रोफाइल बना दी।

अगले दिन कुछ लोगो से बात की फिर मुझे एक आदमी मिला जो 45 साल का था उसने पैसे देने की बात कही मैने अंकल को घर आने कहा करीब 4 दिन बाद वो मेरे घर आये,

मम्मी बोली – कौन है?

मैने कहा – ये मेरे बॉस है

धिरे धिरे रात हो गयी रात को मम्मी ने नाइटी पहननी हुवी थी।

मैने अंकल से कहा – मैने मम्मी को सेक्स की गोली दे दी है तुम उनको पकड़ चोद देना

धिरे धिरे आधी रात हो गयी रात को मैने अंकल से कहा आप मम्मी के कमरे में जाओ मैने उस कमरे की खिड़की खोल दी थी।

अंकल मम्मी के कमरे की तरफ गए और दरवाजा पीटा मम्मी उठ कर आयी मम्मी के बाल खुले थे नाइटी भी आगे से खुली थी,

मम्मी नींद में बोली – क्या हुवा

अंकल बेशर्मो की तरह लड़ सहलाते हुवे बोले मुझे आप से बात करनी है,

मम्मी बोली – लेकिन इस वक्त वो बोले जरूरी है मम्मी अंकल कमरे में चले गए।

अंकल बेड पर बैठ गए मम्मी अलग बैठ गया तभी प्लान के मुताबिक मैने मम्मी की tv में ब्लू फ़िल्म की cd लगा दी थी अंकल ने रिमोट से tv आन कर दिया मम्मी बोली रुकिए तब तक फ़िल्म चालू हो गयी मम्मी जैसे ही tv बंद करने दौड़ी अंकल ने उनको पकड़ लिया।

किस करने लगे मम्मी हट छोड़ हरामी अंकल पूरी ताकत से उनके बूब्स दबाने लगे मम्मी चिलाने लगी छोड़ दे हरामी अंकल ने उनको बेड पर पटक दिया उनकीं नाइटी को ऊपर कर दिया मम्मी की चुत अंकल के सामने आ गयी उन्होंने उस पे अपना मुह रख दिया।

मम्मी मचल ने लगी आआह छोड़ो आआह फिर मम्मी आआह आआह ससस करती रही आखिर में अंकल से बोली अब डाल भी दे अंकल बोले इतना नखरा क्यो करती है मम्मी बोली बात मत कर चोद मुझे अंकल ने नेकर नीचे की लड़ बाहर निकला मम्मी की दोनो पैरों को उठा दिया लड़ चुत में पेल दिया।

मम्मी फड़फड़ाने लगी आआह….मर गयी रे फाड़ दी तुमने अंकल उनको कचर के चोदने लगे अंकल आआह कितनी मस्त चुत है तेरी आआह मम्मी आआह पेल दो रुको मत दोनो चुदाई में मस्त थे अंकल ने पोजीसन बदल ली वो मम्मी के पीछे लेट गए मम्मी ने एक पेर अंकल की कमर पे चढ़ा दिया अंकल पीछे लेट के मम्मी को चोदने लगे मम्मी आआह मैं गयी वो सैयद झड़ गयी अंकल ने भी दो चार दक्को में अपने माल इनकी चुत में भर दिया दोनो लिपट कर सो गए।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैं भी अपने कमरे आया और मुठ मार ले सो गया अगले दिन जब मैं उठा देखा अंकल अभी भी सो रहे थे मम्मी मेरे पास आयी और मुझे पैसे देने लगी मैं बोला ये कहा से आये वो बोली तेरे बॉस ने दिए है फिर मम्मी बोली कितने में तय किया था मैं समझ गया मम्मी को अंकल ने सब बता दिया है।

मैने कहा – मुझे माफ कर दो

मम्मी बोली – कोई बात नही बेटा मुझे भी प्यार की जरूरत थी

अगले दिन मुझे काम पर जाना था अंकल भी जाने लगे मम्मी बोली – आज रुक जाओ फिर चले जाना मैं काम पे चला गया पर मेरे मन नही लग रहा था।

मैं दो घंटे बाद घर आ गया अपनी चाबी से दरवाजा खोल अंदर आकर देखा दो दग रह गया अंकल मम्मी दोनो नग्गे लिपटे पड़े किश कर रहे थे फिर अंकल मम्मी के निपल्स को पीने लगे,

मम्मी आआह….पिलो….ससस….मजे ले रही थी।

मम्मी बोली – अब मेरी चुत फिर मार दो

अंकल बोली – नही रानी अब गाड़ मारूंगा

मम्मी – नही मैं नही कर पाऊँगी

अंकल ने मम्मी को घोड़ी बना दिया अपने लड़ पे तेल लगा लिया मम्मी की गाड़ में खोसने लगे… मम्मी दर्द से कराहने लगी… अंकल ने एक दक्के में अंदर कर दिया,

मम्मी….हाय दईया मरगयीं आआह

अंकल दक्को पे दक्के मारने लगे

मम्मी – आआह ओहद ससस की आवजे निकलने लगी।

वो मधेर्चोद अंकल मेरी मम्मी को कुटिया की तरह चोद रहा था वो उन्हें खूब जोर जोरसे चोटे मार्कर चोद रहा था। जितनी बार वो मम्मी को चोदता उतनी बार उनकी गांड खूब मचल जाती और लेहेर मरने लगती।

अंकल घचघक-घचघक मम्मी की चुदाई कर रहा था और मम्मी की गांड का भोसड़ा बना रहा था। इतने मोठे लंड की चुदाई से मम्मी की गांड पे भोकला हो गया और फिर अंकल और पागल हो गया और उनकी बूब्स पकड़कर उन्हें जबरदस्त तरीके से बड़ी ही रफ़्तार से चोदने लगा।

मम्मी – भोसड़ीके मेरी गांड फार देगा क्या आ आ अहह हाय रह मैया !!

अंकल – हां हां तेरी गांड फ़ारडुंगा मै आज साली तू इतनी सेक्सी हॉट रंडी है की तुझे पागलो की तरह चोदने का मन करता है बहनचोद !!!

मम्मी – माधरचोद चोद तो रहा है तू मुकजी पागलो की तरह आ आ आ अहह कुटिया बना दिया मुझे

दोनों बहुत ही गालिया दे रहे थे और मस्त गांड चुदाई का मज़ा ले रहे थे। फिर कुछ देर बाद अंकल को और मम्मी को दोनों को चरमसुख की होने वाला था।

करीब 10 मिनट बाद अंकल का माल निकला मम्मी गिर पड़ी लेट गयी। और दोनों गहरी गहरी सांसे लेने लगे, संतुस्ती दोनों के चेहरे पे साफ़ दिख रही थी। मेरी Hindi Sex Story कैसी लगी मेल करे ।।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!

Leave a Reply

Your email address will not be published.