आंटी की गांड चाटी और गंदे तरीके चुदाई-2

59450 01

Aunty ki gaand chati aur gande tarike chudai-2

Aunty gaand chudai, उन्होंने ओके कह कर मुझसे पूरा मुँह खोलने को बोला. मैंने आ कर दिया और आंटी जरा सा उठ कर मेरे मुँह में पेशाब की धार मारने लगीं.

दोस्तो, मुझे औरत की गरम पेशाब पीना बहुत पसंद है. आंटी का गरम गरम मूत पीने में मुझे बड़ा मजा आ रहा था.

फिर मैंने उनको खड़ा किया और कुतिया बना दिया. मैं पीछे से आंटी की गांड सूंघने लगा, फिर मैंने अपनी जीभ से आंटी की गांड का छेद चाटा.

ये सब मैंने दस मिनट तक किया.

फिर मैं आंटी से बोला- आप दोनों हाथों से अपनी गांड के छेद को चौड़ा कर लो … मैं आपकी गांड में अपनी जीभ डालूंगा.
उन्होंने ऐसा ही किया.

मैंने आंटी की गांड के छेद में अपनी लम्बी जीभ डाल दी. आह थोड़ा कसैला स्वाद आ रहा था, पर मुझे अच्छा लगा. मैंने देर तक तक आंटी की गांड चाटी.

फिर मैंने उनको सीधा होने को बोला और मैं लेट गया.

मैं बोला- आप मुझे अपने पैर चाटने दो. आंटी मेरे ऊपर 69 में लेट गईं. मैंने उनके पैर दस मिनट तक चाटे.
आंटी बोलीं- अब मेरी बारी है.

मैं ओके कहा, तो उन्होंने मेरा लंड पकड़कर अपने मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगीं.

करीब दस मिनट बाद आंटी ने कहा- तेरा लंड बहुत मोटा है … आज बहुत मजा आएगा. मैं पूरी रात चुदूंगी.
मैंने कहा- हां आंटी मैं आपको आज सोने नहीं दूंगा.

आंटी अब चुदने के लिए रेडी थीं. मैंने उनको नीचे झुका कर उनकी चूत में अपना लंड घुसा दिया. आंटी तड़प रही थीं.

मैं उनको तेज चोद रहा था.

करीब दस मिनट के बाद मैंने उनसे कहा- आंटी, अब आप मेरे लंड पर बैठ जाओ.
वो मेरे लंड पर बैठ कर चुदने लगीं.

आंटी की चुदाई में बहुत मजा आ रहा था. करीब बीस मिनट तक मैंने आंटी को ऐसे ही चोदा. इसके बाद मेरे लंड से माल निकल गया और हम ऐसे ही लेटे रहे.

करीब दस मिनट बाद मैंने बोला- आपकी चूत में पानी बहुत है … लाओ चाट कर साफ़ कर दूं.

आंटी ने अपनी चूत मेरे मुँह पर लगा दी. अब मैं उनकी पूरी बॉडी को अपनी जीभ से चाट रहा था और उनकी बगल में मुँह डालकर पसीना पी गया.

अब आंटी की गांड चोदने को बारी आ गई थी.

मैंने कहा- आंटी क्या मैं आपकी गांड मार लूं?
आंटी ने हां कर दी,
मैंने- ओके आप थोड़ा झुक जाओ.

आंटी गांड मराने के लिए झुक गई थीं.

Welcome in Free Sex Kahaniyaan world, you’re reading these story on Joomla Story, for more kahaniya, please visit Free Sex Kahani

मैंने क्रीम लगा कर उनकी गांड में लंड डाला और काफी देर तक आंटी को चोदा.

गांड मारने के बाद मेरा हुआ नहीं था, तो मैं उनकी चूत चाटने लगा.

आंटी से मैंने कहा- आंटी बड़ी प्यास लग रही है प्लीज़ फिर से अपनी पेशाब पिलाओ न!
उन्होंने हंस कर बोला- साले कुत्ते … तू ये सब बहुत पीता है … चल बाथरूम तुझे टट्टी भी खिलाऊंगी.
मैंने कहा- फिर तो मुझे मज़ा आ जाएगा.

फिर मैं आंटी के साथ बाथरूम में गया और नीचे फर्श पर लेट गया. वो मेरे ऊपर बैठकर मूतने लगीं. मैं उनकी सारी पेशाब पी गया.

इसके बाद मैंने आंटी की तीन बार गांड मारी और दो बार चूत की चुदाई की.
लगभग सुबह पांच बजे तक मैंने आंटी कपो नॉनस्टॉप चोदा. फिर हम दोनों सो गए.

जब मैं सुबह उठा, तो आंटी और एक दूसरे को देख हंस रहे थे.

मैंने आंटी से कहा- आंटी आपकी गांड मुझे बहुत अच्छी लगी … क्या आपकी कोई फ्रेंड है, मुझे उनकी भी गांड मारनी है.
उन्होंने बोला- हां मेरी फ्रेंड है. उसको बड़ा लंड चाहिए.

मैं- क्या वो आठ इंच का लंड ले लेंगी.
उन्होंने बोला- वो साली बहुत बड़ी रांड है. तुमको उसे सुबह से रात तक चोदना होगा.
मैंने कहा- ठीक है आंटी फिर तो मजा आएगा.

मैं उनसे बोला- आप उनको बुला लो.
आंटी ने बोला- वो इधर नहीं आएगी.
तो मैंने कहा- ओके मैं ही उनके पास चला जाऊंगा.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

आंटी ने उससे फोन से पूछा कि जवान लौंडे का लंड लेना है. उन्होंने ‘हां जल्दी भेजो’ कह कर फोन काट दिया.

मेरी आंटी ने कहा- ठीक है, मेरी बात हो गई है, तुम चले जाओ. उसके पति घर पर नहीं हैं. वो बाहर गए हैं.

मैं आंटी की सहेली के दिए गए पते पर चला गया. मैंने उनमें दरवाजे की बेल बजाई.

एक 35 साल की औरत निकली. उसे देख कर ऐसा लगा कि इनको यहीं पर रगड़ दूं.

जब उन्होंने मेरा नाम लिया और पूछा- आप वही हो?
मैंने उनसे बोला- आंटी मुझे उन्होंने भेजा है. चूंकि मेरी आंटी ने उन्हें पहले ही बता दिया था कि ये लड़का बहुत मस्त चूत चाटता है और अच्छे से खुश कर देगा.

उन्होंने मुझे बैठने को भी नहीं बोला.वो सीधे बोलने लगीं- तुम यहां पर बैठने के लिए नहीं आए हो, जल्दी से मेरी गांड में अपनी जीभ डालकर मेरी सेवा करो.

मैंने अपने कपड़े उतारकर उनके कपड़े भी अलग कर दिया और कुत्ते की तरह उनकी गांड के छेद में मैंने अपनी लंबी जीभ डाल दी और गांड चाटने लगा.

काफी देर तक गांड चाटने के बाद मैं उनकी चूत चाटने बैठ गया. मैं देर तक आंटी की चूत को चाटता रहा.

उन्होंने मुझसे पूछा- गरम कोल्डड्रिंक पियोगे.
मैंने कहा- हां पियूंगा.

तो उन्होंने एक आधा लीटर की पानी की खाली बॉटल ली और बोलीं- रुको, तुम्हारी आंटी ने कुछ कहा था.

फिर वो बाथरूम में गईं और थोड़ी देर बाद बाहर आ गईं. मैंने देखा कि बॉटल पूरी भरी हुई थी.

Sex Stories,Free sex Kahaniya Antarvasana, Desi Stories, Sexy Bhabhi, Bhabhi ki chudai, Desi kahaniya JoomlaStory

आंटी ने बोतल मुझे दी और कहा- ये मेरी पेशाब है. लो तुम पी लो, फिर मेरी चुदाई करो.

मैंने पूरी बॉटल पी ली और उनको बोला- आंटी अब आप मेरे मुँह पर बैठो.

वो मेरे मुँह पर बैठकर चूत चुसवाने लगीं.

कुछ देर बाद बोलीं- अब तुम अपना लंड दिखाओ.

मैंने अपना लंड उनके हाथ में दिया. वो लंड देख कर डर गईं और बोलीं- अरे बापरे … इतना बड़ा लंड. इतना मोटा लंड तो मैंने कभी अपनी चूत में नहीं लिया. पता नहीं तेरी आंटी ने कैसे ले लिया.

मैं हंस दिया और उन्होंने भी मुस्कुराते हुए मेरा लंड लेकर अपने मुँह में ले लिया. आंटी लंड चूसने लगीं.

बहुत देर तक लंड चूसने के बाद उन्होंने कहा- काफी चटाई हो गई. अब तुम मुझे चोदो.
मैंने कहा- ठीक है मालकिन … जैसी आपकी मर्ज़ी.

फिर मैंने आंटी को लिटाया और पैर ऊपर करके कंधों पर रखकर लंड डालकर चोदने लगा.

करीब आधा घंटा तक मैंने आंटी को भरपूर चोदा. फिर मेरा रस निकल गया. इसके बाद हम लोग नहाये.

कमरे में आकर आंटी मेरे साथ नंगी ही लेट गईं. मैंने उनकी बगलें चाटीं और कहा- मैं आपकी मालिश कर देता हूं.

आंटी ने हाँ कह दी और मैंने उनको लिटा कर तेल लगाकर मालिश करना चालू कर दी.

आंटी की थकान मिटने लगी. मैं भी उनको पूरी रात चोदने के मूड में था.

हुआ भी यही … मैंने पूरी रात में चार बार आंटी की चूत चुदाई की और दो बार गांड मारी.

सुबह मैं अपने काम से चला गया.

ये मेरी आंटी की चूत गांड की गंदी सेक्स कहानी चुआई की थी. आपको कैसी लगी … तो मेल करके मुझे जरूर बताना.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *