अरोड़ा आंटी के साथ सेक्स्टिंग से सेक्स तक

274427 14

Arora Aunty ke sath sexiting se sex tak

लन्ड को तरसती हुई चूत को मेरे 7 इंच के लन्ड का सलाम।
मेरा नाम अंगद सिंह डूडी है। मैं सिरसा हरियाणा का रहने वाला हूं।उम्र 27 साल है और 3 साल तक रिलेशनशिप में रहा और इस दौरान खूब चुदाई हुई। उसके बाद ब्रेकअप से मैं टूट सा गया था।आजकल के दौर में सेक्सटिंग काम वासना को शांत करने का अच्छा जरिया है जो पोर्न से बेहतर है।साल भर बाद एक दोस्त ने सेक्सटिंग साइट के बारे में बताया।उसने मुझे कुछ चीजे बताई सेक्सटिंग के बारे में मैं प्रभावित हुआ और मैने भी अपना सेक्सटिंग अकाउंट बना लिया।
कुछ महीनों तक की तपस्या के बाद मैं सेक्सटिंग के सारे गुर सीख गया। अब आसानी से वाइस और वीडियो कॉल के जरिए अरमान ठंडे करने लगा। लेकिन मुझे सिर्फ वीडियो कॉल पर ये सब करके चैन नहीं मिला। मुझे कुछ रियल फन करना था। चूंकि मैं सेक्सटिंग एक्सपर्ट हो गया था तो साइट पर खुद की लोकेशन और रियल मीटींग के लिए टैग करना शुरू कर दिया।

दिन बीतते गए लेकिन मैने तलाश जारी रखी।बात नहीं बन रही थी तो मैने प्रोफाइल में भाभियों और आंटियों के बारे में इंटरेस्ट रखा।कुछ भाभियों और आंटियों के रिप्लाइज आना शुरू हो गए। कुछ चैट तक रह जाती। कई वाइस और वीडियो सेक्सटिंग पर सिमट जाती। कोई रियल मीटिंग को तैयार होती तो लोकेशन की दूरी आड़े आ जाती। समझ नहीं आ रहा था के क्या किया जाए। फिर एक रात को चमत्कार हो गया। कहते हैं ना की भगवान के घर देर है पर अंधेर नहीं।
उस रात को मुझे भटिंडा की एक आंटी मिली।

उन्होंने खुद की उम्र 41 साल और फिगर 38 36 40 बताया। उन्होंने कहा कि उनके एक बेटा है जो अपनी पत्नी के साथ दिल्ली में रहता है। उनके पति को गुजरे 4 साल हो चुके हैं। वो 4 सालों से प्यासी हैं और अब कंट्रोल नहीं कर पाती। उन्होंने बताया कि उनके पति बहुत अच्छे चोदू थे।हमने कुछ दिन सेक्स चैट की,फिर वॉइस सेक्स और विडियो सेक्स करके एक दूसरे को ठंडा करना शुरू कर दिया।आगे बातचीत हुई तो पता चला की उनकी एक सहेली है जो डबवाली में (जो मेरे सिरसा शहर से कुछ दूरी पर है) रहती है।वो अक्सर उनसे मिलने जाती है। उन्होंने कहा कि वो चुदवाने के लिए सहेली के वहां आ सकती हैं। वो बोली कि अगर मैं थोड़ी सी कोशिश करूं तो हमारे अरमान पूरे हो सकते हैं।मैने उनको हां बोल दी। दिन तय हुआ और हमारे मिलने की जगह भी।

मैने घर पर शॉपिंग का बहाना बनाया और चला गया उनसे मिलने। जैसे तय हुआ था मेरे व्हाट्सएप पर लोकेशन शेयर मिल गया था तो मैं उसे फोलो करते हुए उनकी सहेली के घर पहुंच गया जहां वो खुद पहले दिन आ चुकी थी।गेट पर उनकी सहेली ने मेरा स्वागत किया और मुझे घर के अंदर ले के गई।
मेरा परिचय आंटी के दूर के रिश्तेदार के रूप में करवाया गया।बताया गया कि मैं उनसे मिलने और शॉपिंग करने आया हूं।मैने आंटी को देखा तो देखता ही रह गया।मैं ये तो नहीं कहूंगा कि स्वर्ग की अप्सरा लग रही थी। पर उनकी उम्र और हकीकत में 8 से 10 साल का फासला लग रहा था। दूध जैसा चेहरा,नयन नक्श के दर्शन पाते ही लन्ड जिंस में मुझे परेशान करने लगा था। जैसे तैसे खुद को संभालते हुए उनको नमस्ते की और हालचाल पूछा।

अपने ब्राउज़र के मेन मेनू में जायें वहां इनस्टॉल ऐप्प या ऐड टू होम स्क्रीन पर क्लिक करें और आसानी से इस साइट का आनंद ले।

चाय के बाद हाल में बातचीत के दौरान हम एक दूसरे को देख कर रहे थे जो उनकी सहेली भी नोटिस कर रही थी। मैने उनकी सहेली को भी चोदा जो अगली खानी में आप लोगों को बताऊंगा।आंटी की सहेली के पति शहर में दुकान करते थे। फास्ट फॉरवर्ड लोग थे तो मुझसे ज्यादा पूछताछ नहीं हुई।

रात हुई मैं ऊपर कमरे में था और आंटी नीचे।उनकी सहेली जैसे ही अपने पति के साथ सोई।मुझे आंटी की कॉल आई। वो बोली की आ मेरे भूखे शेर शिकार अकेला है।मैं दुबके दुबके उनके रूम मैं घुस गया और डोर लॉक कर दिया।वो साड़ी में बैठी थी।उनके ब्लाउज से डीप क्लीवेज मेरे होश उड़ा रहा था।बूब्स कैद से बाहर आना चाहते थे।वो मेरी तरफ देख कर हसी और खड़ी हो गई। मैने उनको कस के पकड़ लिया और होठ मुंह में भर के चूसने लगा।कुछ मिनट्स चूसने के बाद वो अलग होकर बोली की वीडियो कॉल पर तेरा लन्ड देख कर बहुत बार चूत में उंगली की है।अब आग बुझा दे मादर चोद। मैं उनके मुंह से ये सुनकर उन पर टूट पड़ा और बेड पर पटक कर ऊपर चढ़ गया और बोला हां मेरी रानी तेरी आग ही तो बुझाने आया हूं। ये बोल के मेने उनके शरीर को हर जगह से चूमना शुरू कर दिया। वो गरम होने लगी और आहें भरने लगी।चूमते चूमते हमने एक दूसरे को नंगा कर दिया।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

सेक्स में मेरी चॉइस हटके है। मुझे रिवर्स 69 में चूत चाटना और स्टैंड एंड कैरी पोजीशन में चूत चोदना बहुत पसन्द है।
मैने विडियो कॉल पर उन्हें ये इच्छा बताई हुई थी।वो झट से इसके लिए तैयार हो गई और रिवर्स 69 पोजीशन में मेरे ऊपर लेट गई।उनकी 4 साल से अनचुदी चूत मेरे मुंह के सामने खुलकर अपनी सुगंध बिखेरने लगी।मुझे चूत की सुगंध बहुत पसन्द है तो मैं खुलकर इसके मजे ले रहा था और उधर आंटी ने मेरे लन्ड के साथ खेलना शुरू कर दिया था।वो लन्ड को छोटे बच्चे की तरह प्यार और किस कर रही थी जो मुझे और उत्तेजित कर रहा था।मैने अब उनकी खुली हुई चूत को चाटना शुरू कर दिया था।कभी दोनों फांकों के बीच में जीभ फिराता,कभी बुर को मुंह में भर के चूसता तो कभी चूत में जीभ उतार के चुदाई करता।मेरी हर हरकत पर आंटी सिसकारी लेती और लन्ड चूसना छोड़कर गाली देती। मैं भी उनकी मोटी गोरी गान्ड पर थपड़ मारता और गाली देता।इस तरह गाली गलौच और चटम्म चटाई से हम दोनों खूब मजे ले रहे थे।

कुछ देर बाद आंटी ने लगातार गाली और सिसकारी के बाद अकड़कर चूत से पानी छोड़ दिया। मैं चूत से निकलते पानी को निहारता रहा।मैने उनको बोला कि मेरा भी निकलने वाला है तो वो बोली के मेरे मम्मों पर निकालना और वो उकड़ू बैठ गई।मैने लन्ड उनसे छुटाते हुए मुठ मारते हुए पूरे माल से उनके दूध नहला दिए।उन्होंने पूरा माल मम्मों पर मसल लिया और हम लेट गए। लेटे लेटे मैं उनके बूब्स को मसलने लगा और वो मेरे लन्ड को हाथ लेकर मसलना शुरु हो गई। मैं उनके ऊपर आ गया और उनके बड़े गौरे दूध को मसलना और मुंह में भर के चूसना शुरू कर दिया।निप्पल को भी जोर जोर से खींचना शुरू कर दिया।मेरा लन्ड फिर से कड़क हो गया और आंटी ने गाली देते हुए मुझे चूत चुदाई का आमंत्रण दिया।मैने गान्ड के नीचे तकिया लगाकर उनकी टांगे फैला दी।चूत को देखकर लगा रहा था कि वो बाहें फैलाकर लन्ड को बुला रही थी।मैने लन्ड को बुर पर घिसना शुरू कर दिया।आंटी गाली देते हुए बोली कि मेरे शेर बहुत तड़पाया है इस रण्डी चूत ने मुझे। आज इस हरामजादी की अकड़ निकल दे।

मैने भी भद्दी भद्दी गाली देते हुए लन्ड से चूत को पीटना शुरू किया और एकदम से लन्ड चूत में उतार दिया।थोड़ी सी परेशानी के साथ पूरा लन्ड चूत में उतर गया।चूंकि उनकी उम्र भी ज्यादा थी और चूत खूब खेली खाई हुई थी तो लन्ड के चूत में उतरते टाइम हल्की सी आह उनके मुंह से निकली। मैने आराम से लन्ड चूत के अंदर बाहर करना शुरू कर दिया।आंटी के हाथ मेरी कमर पर थे और मेरा एक हाथ उनकी गांड के नीचे और दूसरा उनके हाथ को काबू किए हुए था। मैं हर झटके के साथ उनके मम्मों को चूस चाट रहा था। कभी होटों को पीता तो कभी गाल को चूमता। इसके साथ साथ हम एक दूसरे को खूब गालियां भी दे रहे थे जो चुदाई के मजे को दुगुना कर रही थी और उत्तेजना भी बढ़ा रही थी।

आंटी ने कहा कि उनका होने वाला है तो मैने फटाफट से उनको बेड पर खड़ी करके स्टैंड एंड कैरी पोजीशन में ले लिया। गांड को संभालते हुए चुदाई शुरू कर दी।ये पोजीशन मुझे इसलिए अच्छी लगती है क्योंकि इस पोजीशन में औरत को चरम पर ले जाओ तो वो पानी छोड़ते टाइम लगभग बेहोश सी हो जाती है और चोदने वाले की दीवानी भी। यहीं आंटी के साथ भी हुआ उनका पानी छूटने को था तो मुझे ज्यादा देर उन्हें संभालना नहीं पड़ा और वो सिर को पटकते और मेरे बालों को नोचते हुए झड़ कर ढीली हो गई।मैने गोद से उतारकर उनको बेड पर पटक दिया और उनके मुंह पर मुठ मारते हुए माल उनके मुंह पर छिड़क दिया।वो विरोध करने की हालत में नहीं थी तो बस माल को थूक दिया।होश में आने पर मुझे गले से लगाया और कहा कि आई लव यू माय नॉटी अंगद। तेरी चुदाई ने पति की याद दिला दी।

इस पोजीशन में चुदाई के बाद वो बुरी तरह थक चुकी थी तो हम नंगे ही एक दूसरे से लिपट कर सो गए। सुबह वो जल्दी उठ गई।मुझे उठाते हुए उन्होंने लन्ड चूसना शुरू कर दिया और हमने चुदाई का एक राउंड और पूरा किया।
सुबह मैं उनसे विदा लेकर और कुछ खरीददारी करके वापिस घर लौट गया।
हम आजकल उसी तरह विडियो सेक्स से एक दूसरे को ठंडा करते हुए फिर एक मौके का इंतजार कर रहे हैं एक और यादगार रात गुजारने के लिए।आपको कहानी कैसी लगी मुझे कमेंट और मेल करके बताएं। आप मुझे मेरे इस अकाउंट पर हर जगह ढूंढ सकते हैं। धन्यवाद।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *