Daily news update

Nude Bhabi Chudai Kahani – सरिता भाबी को लंड की जरूरत थी

न्यूड भाबी चुदाई कहानी में पढ़ें कि दूध वाला अपने गाँव चला गया तो भाबी को लंड मिलना बंद हो गया. गली के कुछ लड़के जवान हो चुके थे. एक लड़का भाभी को पसंद आया.

साथियो, एक मस्त किरदार सरिता भाभी की मदमस्त जवानी को न जाने कितने लंड चोद कर मजा ले रहे थे, इसका वर्णन आपको सेक्स कहानी में लिख रहा था.
न्यूड भाबी चुदाई कहानी के पिछले भाग
भाभी ने दूध वाले का लंड खा लिया
में अब तक आपने पढ़ा था कि दूध वाले ने भाभी को खूब चोदा था. उसके बाद वो गांव चला गया तो भाभी ने मोहल्ले के दो जवान लौंडों पर अपनी वासना भरी नजर गड़ा दी.
एक दिन वो लौंडा भाभी को चोदने उनके घर में आ गया था.

अब आगे न्यूड भाबी चुदाई कहानी:

सरिता भाभी ने रोमी को देखा तो उससे कहा- क्यों बे … मुझे चोदने आया है?

रोमी को भाभी के मुँह से इतनी खुली बात सुनकर साहस आ गया और वो बोला- हां … मैं तुमको खूब चोदना चाहता हूँ. तुमको चोदने का मेरा पूरी रात का प्लान है.

सरिता भाभी ने उसको देखते हुए कहा- ठीक है … मैं भी चुदवाऊंगी, पर एक शर्त है. आज रात के बाद मैं तुमको फिर कभी नहीं चोदने दूंगी.

रोमी तो खुश हो गया और उसने झट से अपना लंड बाहर निकाल लिया.

सरिता भाभी ने जब देखा कि रोमी का लंड तो बहुत शानदार है, तो वह तो फ़ौरन रोमी के पास आ गई और नीचे बैठ कर रोमी का लंड चूसने लगी.

रोमी के लंड चूसने की आवाज पूरे कमरे में गूँजने लगी. पास ही में खड़े सोनू ने भी ये आवाज सुनी, तो वो उस आवाज के दिशा में आगे आने लगा.

जब वह दरवाजे के करीब आया, तो वह चौंक गया कि ये क्या … रोमी का लंड सरिता भाभी चूस रही है.

सोनू ने भी अपने पैंट उतारी और सरिता भाभी के करीब जाकर खड़ा हो गया.

सरिता भाभी ने जब उसे देखा, तो वो भी चौंक गयी कि ये तो दो हैं.
पर सरिता भाभी भी एक साथ दो लंड का मजा लेना चाहती थी.

फिर क्या था सेक्स का खेल शुरू हो गया.
सरिता भाभी को दो लंड मिल गए थे.
उसने तो बारी बारी दोनों के लंड का स्वाद लेना शुरू कर दिया.

अचानक रोमी ने सरिता भाभी की गांड में उंगली डाल दी.

सरिता भाभी ने अभी तक अपनी गांड नहीं मरवाई थी.
इस अचानक हुए हमले के कारण भाभी दर्द से चिल्ला उठी- हाय मेरी गांड से निकालो अपनी उंगली … आह मेरी गांड से बाहर निकालो.

पर रोमी नहीं मान रहा था.

सरिता भाभी बोली- देख भोसड़ी के उंगली बाहर … निकाल वरना मैं नहीं चुदवाने वाली.
रोमी बोला- क्या तुम्हारी गांड अभी तक किसी ने नहीं मारी है?

सरिता भाभी बोली- नहीं … मेरी गांड अभी तक किसी ने नहीं मारी.
तो रोमी ने कहा- आज तो हम दो हैं, इसलिए तुम्हारी दोनों तरफ से लेंगे. मैं तो गांड का विशेष शौकीन हूँ. मैं आज तुम्हारी गांड मारूंगा और मेरा दोस्त तुम्हारी चूत चोदेगा … सच में तुम्हें बहुत मजा आएगा.

ये सुनकर सरिता भाभी के तो होश ही उड़ गए.
वो सोचने लगी कि ये क्या कह रहा है. आज तो क़यामत होगी. इस रोमी का लंड तो बहुत मोटा और लम्बा है, ये तो मेरी गांड फाड़ ही देगा. और ये सोनू का लंड भी इससे छोटा है, पर रोमी के लंड से ज्यादा मोटा है. मेरी तो आज चूत और गांड पक्के में फटेगी. मैं तो बारी बारी से इन दोनों के लंड अपनी चुत में लेना चाहती थी लेकिन ये तो सैंडविच चुदाई के मूड में हैं.

तब तक रोमी की उंगली भाभी की गांड में मजा देने लगी थी.

रोमी ने भी कहा- दोनों छेद एक साथ चालू करवा ले मेरी जान. तुझे आगे से इस तरह से चुदने में बहुत मजा आएगा. अभी बोल मजा आ रहा है न!
सरिता भाभी ने कराहते हुए कहा- हां … पर धीरे धीरे तेल लगा कर करना.

रोमी ने उंगली से गांड फैलाते हुए कहा- जरा गांड को ढील दो रानी. फिर लंड पेलूंगा.
भाभी- इधर नहीं … ऊपर पलंग पर आ जाओ दोनों.

फिर वे दोनों दोस्त पलंग पर आ गए और सरिता भाभी को मस्त करने लगे.

रोमी सरिता भाभी के मम्मे चूसने लगा.
सोनू सरिता भाभी की चूत चाटने लगा.

रोमी खूब जोर जोर से मम्मे दबा रहा था और सोनू खूब जोर से चुत चाट रहा था.
सरिता भाभी को बहुत मजा आ रहा था. वो मदमस्त होकर सब मजा ले रही थी.
कुछ देर बाद भाभी झड़ गयी.

अब रोमी ने अपना लंड सरिता भाभी के मुँह में दे दिया और सोनू ने अपना लंड सरिता भाभी के हाथ में दे दिया.
सरिता कुछ देर रोमी का लंड चूसती, तो कुछ देर सोनू का लंड चूसती.
वो एक रांड की तरह मचल रही थी.

कुछ देर बाद अब रोमी ने कहा- मैं अब तुम्हारी गांड चूसूंगा और चाटूंगा.

सरिता भाभी झट से औंधी हो गयी. उसने अपनी चूत और गांड रोमी के मुँह पर रख दी.
वो दोनों 69 की पोजीशन में आ गए थे. सरिता साथ ही सोनू का लंड भी चूसने लगी. वो कभी रोमी का लंड चूसती, तो कभी सोनू का लंड चूसती. तीनों काम वासना के समुन्दर में गोते लगा रहे थे.

अब वो समय आया, जब रोमी ने सरिता से कहा- आओ, अपनी गांड मेरी तरफ करो.

सरिता एक बार कुछ डर सी गयी, पर सेक्स की भूखी सरिता क्या करती. आज सरिता को भी अपनी गांड खुलवानी ही थी.
वो समय आ गया था जब पहली बार उसकी गांड फटने वाली थी और दो लंड एक साथ उसकी गांड और चूत दोनों को फाड़ने वाले थे.

सरिता भाभी चुदने की पोजीशन में हो गयी. उसने एक कुतिया की तरह अपनी गांड रोमी के लंड के आगे रख दी. गोल मटोल चिकनी और गोरी गोरी गांड देख कर रोमी तो बेकाबू हो गया.

रोमी बोला- हाय … क्या गांड है, इसको तो आज मैं खूब पेलूंगा … खूब चौड़ी कर दूंगा.

सरिता भाभी सोच रही थी कि आज उसकी गांड के दो टुकड़े ही हो जाएंगे.

इधर सोनू ने भी सरिता भाभी के सामने आकर लंड को उसके मुँह में दे दिया. पूरा लंड भाभी ने अपने मुँह में समा लिया. रोमी ने भी सरिता भाभी की गांड पर तेल लगाया और लंड पर भी तेल लगा दिया.

अब रोमी ने सरिता भाभी की गांड में लंड डालना शुरू किया.
जैसे ही उसने लंड को भाभी की गांड में डाला, वो चिल्लाने को हुई पर चिल्ला नहीं पाई क्योंकि सोनू का लंड उसके मुँह में घुसा था.

अब रोमी ने आव देखा न ताव और जोरदार धक्का दे दिया. उसका पूरा लंड सरिता भाभी की गांड में घुस गया.
भाभी ने सोनू का लंड भी मुँह से बाहर निकाल दिया और जोर से चिल्ला उठी.

अब भाभी रोमी से मिन्नतें करने लगी- छोड़ दे यार … एक एक करके चुत ही चोद लो. मेरी गांड में से लंड निकाल लो.

पर रोमी मानने वालों में से नहीं था. उसने तो जोर जोर के छह धक्के मार ही दिए. सरिता भाभी की गांड में से खून निकल आया और वह बिलबिलाने लगी.

अब रोमी ने अपने धक्के मारना बंद कर दिया. इससे सरिता भाभी को कुछ आराम मिला, पर रोमी ने अभी अपना लंड भाभी की गांड से निकाला नहीं था.

उसने सोनू को इशारा किया कि वह सरिता भाभी के मुँह में लंड भर दे.
सोनू ने सरिता भाभी के मुँह में लंड दे दिया. भाभी धीरे धीरे उसका लंड चूसने लगी.

रोमी ने भी धीरे धीरे सरिता की गांड में लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

ऐसा लगने लगा था कि अब सरिता भाभी शांत हो गई थी और वो अपनी गांड मराने का मजा लेने लगी थी.

उसने सोनू का लंड पूरे जोश से चूसना शुरू कर दिया.

ये देख कर रोमी समझ गया कि सरिता भाभी अब शायद झड़ने वाली है.
रोमी ने धीरे धीरे अपने स्पीड बढ़ा दी.

अब सरिता भाभी अपनी गांड हिलाते हुए बोलने लगी- आह मारो मेरी गांड … ऊ आह ऊ … फाड़ दो मेरी गांड.
भाभी अब पूरे जोश में आ गयी थी.

कुछ देर बाद भाभी से अपनी चूत से पानी छोड़ दिया. उसकी चूत में से इतना पानी निकला कि वो उसकी जांघों पर टपकने लगा और वो पलंग पर गिर गयी.
उसकी गांड से रोमी का लंड भी निकल गया.

भाभी ने सोनू का लंड भी अपने मुँह से निकाल दिया. दोनों ये देख रहे थे.

रोमी बोला- क्या हुआ सरिता जान?
वो कुछ बोलने लायक बची ही नहीं थी … एकदम बेदम शांत पड़ी रही.

फिर रोमी ने सरिता भाभी को पीछे से उठाया और उसे फिर से कुतिया बना दिया.

रोमी ने सरिता भाभी की गांड को देखा, तो उसकी गांड सूज गयी थी लेकिन उसकी गांड का छेद काफी खुल चुका था.

रोमी ने अपना लंड भाभी की गांड के छेद पर रख दिया और एक जोरदार धक्का दे दिया.
इस बार लंड आसानी से गांड के अन्दर चला गया. सरिता भाभी को भी ज्यादा दर्द नहीं हुआ.

इधर सोनू अपना लंड अपने हाथ में लिए खड़ा था. वो उन दोनों की चुदाई देख रहा था.
रोमी कभी सरिता भाभी की गांड में लंड डालता तो कभी उसकी चूत में पेल देता.

भाभी भी अब फिर से गर्म हो गयी थी और रोमी का साथ देने लगी थी.
दोनों मस्त चुदाई करने लगे थे.

सोनू ने रोमी को देखा, तो रोमी ने सोनू को इशारा कर दिया.

सोनू समझ गया और मुस्कुरा दिया.

रोमी ने सरिता भाभी से कहा कि आओ अब तुम्हारी गांड और चूत एक साथ चोदते हैं.

सरिता भाभी ने सोनू को देखा तो सोनू का लंड तैयार था.

रोमी नीचे लेट गया, उसके लंड के ऊपर सरिता गांड टिका कर लेट गई. रोमी ने नीचे से गांड उठा कर अपना लंड सरिता भाभी की गांड में डाल दिया.

भाभी की चूचियां हवा में एक बार उछल पड़ीं और उसको गांड में लंड का मजा आने लगा.

इधर सोनू ने अपने लंड को सरिता भाभी की चूत में डाल दिया.
भाभी को मजा आने लगा. वो एक साथ अपने दोनों छेदों में दो लंड ले रही थी.

उसकी कामुक आवाजों से पूरा रूम गूंज उठा था- आह मादरचोद हरामियों तुम दोनों ने मुझे आज बाजारू रंडी बना दिया है … आह साले बड़ा मजा आ रहा अह आह भैन के लंड और जोर से चोदो मेरी गांड में आह कितना अन्दर जा रहा है आह सोनू चुत में भी पूरी गहराई में पेलो लौड़ा … आह मम्मी रे और तेज तेज चोदो और तेज चोदी मेरी गांड और चूत!

कुछ घंटे के चुदाई चली और तीनों एक साथ झड़ गए.
सरिता भाभी की चूत में से जैसे ही सोनू ने लंड निकाला, उसकी चूत ने ढेर सारी पेशाब छोड़ दी और वो सब सरिता भाभी की पेशाब से भीग गए.

सब थक चुके थे, तो कब सो गए … पता भी नहीं चला.

सुबह के चार बजे रोमी की आंख खुली. तो उसने देखा कि सरिता भाभी सोनू से चिपक कर सो रही हैं.

रोमी ने भाभी का हाथ पकड़ा और अपनी तरफ खींच लिया.

सरिता भाभी की भी आंख खुल गयी. रोमी का लंड खड़ा था. सरिता भाभी समझ गयी कि रोमी फिर चोदने के लिए तैयार है.

भाभी ने भी रोमी को किस करना शुरू कर दिया. वो दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे और अपनी अपनी जुबान से एक दूसरे को चाटने लगे और लार चूसने लगे थे.

उसी समय सोनू भी जाग गया.
उसने देखा कि वो दोनों फिर से चुदाई कर रहे हैं. ये देख कर सोनू का लंड भी खड़ा हो गया.

सरिता भाभी रोमी के ऊपर चढ़ी थी और रोमी का लंड सरिता की चूत में था.
सोनू ने अपना लंड निकाला और भाभी की गांड पर टिका दिया.

सरिता ने कुछ नहीं कहा, तो सोनू ने अपना लंड सरिता की गांड में पेल दिया.
‘हाय मरी ..’ की आवाज के साथ सरिता भाभी फिर दोनों तरफ से चुदवाने लगी.

वो जैसे एक सैंडविच बन गई थी.
नीचे रोमी, बीच में सरिता और ऊपर सोनू था.

सरिता की गांड और चूत को दोनों लौंडे धकापेल पेल रहे थे. इस बार तीनों बहुत गर्म थे, जोर जोर से चुदाई हो रही थी.

काफी देर तक सेक्स का ताण्डव चला और फिर तीनों एक साथ झड़ गए.

रोमी ने अपने लंड का पानी सरिता भाभी की चूत में छोड़ दिया और सोनू ने अपने लंड का पानी सरिता भाभी की गांड में छोड़ दिया.
भाभी दोनों के वीर्य से नहा ली और फिर उसकी चूत ने फुवारा छोड़ा.

अब सुबह के पांच बज चुके थे.
सरिता भाभी ने कहा- चलो जाओ तुम दोनों … वरना मेरा पति आ जाएगा.
पर उन दोनों ने कहा कि एक बार हम तीनों बाथरूम में साथ में नहा लेते हैं, फिर चले जाएंगे.
सरिता भाभी बोली- जल्दी करो चलो बाथरूम में.

वो तीनों बाथरूम में चले गए, उधर साथ में नहाये. सरिता भाभी को भी बड़ा मजा आया.

फिर वो दोनों चले गए. इस वक्त सरिता भाभी का शरीर दर्द से टूट रहा था, सो वो सो गयी.

करीबन ग्यारह बजे उसका पति घर आया और उसने सरिता को देखा कि वह अभी भी सो रही है.
वो सरिता को जगाने लगा.

तो दोस्तो, ये थी सरिता भाभी की एक और चुदाई की कहानी.

अभी तो और भी कहानियां बाकी हैं. आपको न्यूड भाबी चुदाई कहानी कैसी लगी, इसको लेकर कमेंट और मेल जरूर करना.
[email protected]

न्यूड भाबी चुदाई कहानी जारी रहेगी.

0Shares

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *